स्वागतम्
14 अक्टूबर 2019 दैनिक समसामयिकी (Daily Current Affairs)
कृपया पोस्ट शेयर करें...

14 अक्टूबर 2019 दैनिक समसामयिकी (Daily Current Affairs) – 14 अक्टूबर 2019 से सम्बन्धित राष्ट्रीय एवं अन्तर्राष्ट्रीय राजनैतिक, आर्थिक, खेल आदि से सम्बन्धित महत्वपूर्ण घटनाक्रम, प्रसिद्ध व्यक्तियों के निधन से जुड़े समाचार तथा दैनिक समसामयिकी टेस्ट –

अभिजीत बनर्जी को मिला अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार-

इन बार नोबेल पुरस्कारों की घोषणा के क्रम में आज अर्थशास्त्र के नोबेल पुरस्कार की घोषणा की गई। यह पुरस्कार अभिजीत बनर्जी, एस्थऱ डुफ्लो, माइकल क्रेमर को प्रदान किया गया। इस बार अर्थशास्त्र का नोबेल पुरस्कार जिन तीन व्यक्तियों को प्रदान किया गया, उनमें भारतीय मूल के अभिजीत बनर्जी भी शामिल हैं। इन्हें वैश्विक गरीबी कम किए जाने को लेकर किए गए इनके प्रयासों के लिए यह पुरस्कार प्रदान किया गया है।

अभिजीत बनर्जी के बारे में-

अभिजीत बनर्जी का जन्म 21 फरवरी 1961 को कोलकाता में हुआ था। वर्तमान में ये अमेरिकी नागरिक हैं। इन्होंने कलकत्ता के प्रेसीडेंसी कॉलेज से अर्थशास्त्र की पढ़ाई की। इसके बाद दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय मे अर्थशास्त्र एमए की पढ़ाई की है।

विश्व महिला बॉक्सिंग चैंपियनशिप-

मंजू रानी ने हाल ही में विश्व महिला बॉक्सिंग चैंपियनशिप में रजत पदक हासिल किया है। हालांकि इन्हें फाइनल में हार का सामना करना पड़ा। 18 साल बाद यह पहला मौका है जब किसी भारतीय महिला मुक्केबाज ने अपने पदार्पण विश्वकप में रजत पदक हासिल किया है। इससे पूर्व वर्ष 2001 में एम. सी. मैरीकॉम ने अपने पदार्पण विश्व चैंपियनशिप में रजत पदक हासिल किया था।

इसे भी पढ़ें...  27 अगस्त 2019 दैनिक समसामयिकी (Daily Current Affairs)

‘टोटल’ खरीदेगी अडानी गैस की 37.4 प्रतिशत हिस्सेदारी-

हाल ही में फ्रांस की ऊर्जा कंपनी टोटल ने भारत की गौतम अडाणी की गैस कंपनी अडाणी गैस के 37.4 प्रतिशत शेयर खरीदने की घोषणा की है। इस तरह अडाणी औऱ टोटल के पास कंपनी की 50-50 प्रतिशत की भागीदारी होगी। दोनो ही कंपनियां 37.4 – 37.4 प्रतिशत की मालिक होंगी औऱ बाकी के 25.2 प्रतिशत की हिस्सेदारी आम निवेशकों के पास रहेगी।

मरियम थ्रेसिया को मिली संत की उपाधि-

भारतीय नन मरियम थ्रेसिया को उनकी मृत्यु के 93 साल बाद संत की उपाधि दी गई है। इनका जन्म 26 अप्रैल 1876 को केरल के त्रुशूर में हुआ था। इन्होंने वर्ष 1914 में होली फैमिली नामक एक संस्था की स्थापना की थी। यह उपाधि पोप फ्रांसिस ने वेटिकन सिटी में एक आयोजन के दौरान प्रदान की। इन्हें यह उपाधि लड़कियों की शिक्षा में योगदान देने के लिए दी गई है। इनके साथ ही चार अन्य ईसाई धर्मगुरुओं को भी मरणोपरांत संत की उपाधि प्रदान की गई। इनके साथ इस बार संत की उपाधि पाने वाले अन्य चार संत- कॉर्डियन जॉन हेनरी न्यूमैन (ब्रिटेन), लेवीमैन मार्गरेट बेज (स्विजरलैंड), सिस्टर डल्स लोप्स (ब्राजील), सिस्टर गिसेपिना वानिनि(इटली) हैं।

WhatsApp पर सुगम ज्ञान से जुड़ें

हमारी टीम को प्रोत्साहित करने और नए-नए ज्ञानवर्द्धक वीडियो देखने के लिए सुगम ज्ञान YouTube Channel को SUBSCRIBE जरूर करें। सुगम ज्ञान टीम को सुझाव देने के लिए हमसे WhatsApp और Telegram पर जुड़ें। ऑनलाइन टेस्ट लेनें के लिए सुगम ऑनलाइन टेस्ट पर क्लिक करें, धन्यवाद।

इसे भी पढ़ें...  7 अक्टूबर 2019 दैनिक समसामयिकी (Daily Current Affairs)
चर्चा
(अब तक देखा गया कुल 83 बार, 1 बार आज देखा गया)
कृपया पोस्ट शेयर करें...
Close Menu