कृपया पोस्ट शेयर करें...

भारत के 7 अजूबे ( 7 Wonders of India ) – अगर आप भारत में रहते हैं और थोड़े से भी शिक्षित है तो ये जानकारी आपके पास होना अति आवश्यक है इसे याद कर लें –

ताजमहल ( Taj Mahal )

शाहजहाँ द्वारा बनबायी गयी यह प्यार की नायाब निशानी भारत के ही नहीं बल्कि विश्व के 7 अजूबों में से एक है। इसे शाहजहाँ द्वारा अपनी प्रिय बेगम मुमताज महल (अर्जुमंद बानो बेगम) की याद में बनबाया गया था जिसकी मृत्यु अपने 14 वें प्रसव के दौरान बुरहानपुर में हो गयी थी। इसके प्रमुख वास्तुकार उस्ताद अहमद लाहौरी और उस्ताद ईसा थे इनके अतिरिक्त  कुरान की आयतें लिखने का काम अमान खां सिराजी, पच्चीकारी का कार्य कन्नौज के मोहनलाल ने किया और गुम्बद निर्माण का कार्य इस्माइल खां द्वारा किया गया। इसका निर्माण 22 फ़ीट ऊँचे चबूतरे पर किया गया है और इसे बनने में कुल 22 वर्ष का समय लगा। इसके निर्माण में कुल 50 लाख रूपये का खर्च आया। इसका निर्माण कार्य 1630-31 में प्रारम्भ हुआ और 1652 में तैयार हुआ परन्तु इसके मुख्य द्वार पर लगे पत्थर पर 1647 की तिथि अंकित है जिसके अनुसार इसके निर्माण का काल 17 वर्ष ज्ञात होता है। इसमें शाहजहां और मुमताज की कब्र हैं।

कोणार्क का सूर्य मंदिर ( The Konark Sun Temple )

कोणार्क का सूर्य मंदिर जिसे ब्लैक पगौड़ा के नाम से भी जाना जाता है विश्व विरासत सूची में सम्मलित एक अंतर्राष्ट्रीय पर्यटन स्थल है। भारत और विश्व भर से प्रति वर्ष लाखो की संख्या में लोग इसे देखने आते हैं। यह ओडिशा के पुरी जिले में कोणार्क से लगभग 1 किलो मीटर दूरी पर स्थित एक रथ मंदिर है। इसे 13वीं सदी में लगभग 1278 ईo में गंग वंश के शासक नरसिंह देव प्रथम द्वारा बनवाया गया था।

इसे भी पढ़ें...  भारत सामान्य ज्ञान (India General Knowledge)

स्वर्ण मंदिर  ( The Golden Temple )

पंजाब के अमृतसर में स्थित स्वर्ण मंदिर एक सिख तीर्थ स्थल है इसे हरमंदिर साहिब या दरबार साहिब भी कहा जाता है। इस पर चढ़ी स्वर्ण की परत के कारण इसे स्वर्ण मंदिर कहा जाता है। इसका निर्माण 1588 ईo से 1604 ईo तक का है।

नालंदा विश्वविद्यालय ( The Nalanda University )

यह विश्वविद्यालय बिहार राज्य की राजधानी पटना से लगभग 100 किलो मीटर दूरी पर राजगृह के आधुनिक बड़गॉव नामक स्थान के निकट स्थित था। इसकी स्थापना शक्रादित्य ने की थी (ह्वेनसांग के अनुसार) । यहाँ पर चिकित्सा शास्त्र का अध्ययन सभी के लिए अनिवार्य था। ह्वेनसांग यहाँ 18 माह रहा और योगशास्त्र का अध्ययन किया। यह विश्वविद्यालय 427 ईo से 1197 ईo तक बौद्ध शिक्षा का महत्वपूर्ण स्थल रहा परन्तु बाद में मुस्लिम आक्रमणकारी बख्तियार खिलजी द्वारा इसे ध्वस्त कर दिया गया और अब ये खंडहर मात्र ही अवशेष है। 670 ईo में चीनी यात्री इत्सिंग नालंदा आया। यह आवासीय शिक्षण संस्थान का पहला उदाहरण प्रस्तुत करता है। हर्षवर्धन ने 100 गाँव की आय नालंदा के खर्च के लिए दान स्वरुप दी थी।

हम्पी  ( The Hampi Temple Complex )

उत्तरी कर्नाटक में स्थित विजयनगर के खंडहरों पर स्थित यह मंदिर धार्मिक व ऐतिहासिक आधार पर अत्यधिक महत्वपूर्ण है। यह भारत की लगभत सभी प्रकार की वास्तुकला से सुसज्जित मंदिर है। इसके बारे में प्रचलित है की सीता को खोजते हुए जब राम और लक्ष्मण इस ओर से जा रहे थे तो उन्होंने इस मंदिर का दौरा किया था।

इसे भी पढ़ें...  ज्ञानपीठ पुरस्कार और प्राप्तकर्ता

गोमतेश्वर की मूर्ति ( The Monolithic Gomateshwara Statue )

कर्णाटक के श्रवणबेलगोला में स्थित भगवान गोमतेश्वर की मूर्ति जो बाहुबली के नाम से भी प्रसिद्द है, चामुंडराय द्वारा बनबाई गयी थी जैन धर्म से सम्बंधित है और यह नग्न अवस्था में है, जैन साहित्य के अनुसार सर्वप्रथम मोक्ष की प्राप्ति बाहुबली को ही हुयी थी। इसे एकाश्म पत्थर से निर्मित किया गया था। यह 60 फ़ीट ऊँची मूर्ति है जिस तक पहुंचने के लिए हमें 618 सीढ़ियों को चढ़कर जाना पड़ता है।

खजुराहो ( Khajuraho Group Of Monuments )

मध्यप्रदेश के छतरपुर जिले में स्थित है जो कि प्राचीन हिन्दू व जैन मंदिरों के लिए प्रसिद्द है। खजुराहो चंदेल शासकों की राजधानी थी और उन्हीं के काल में इसे प्रसिद्धि प्राप्त हुयी। खजुराहो में बने अधिकांश मंदिरो का निर्माण चंदेल नरेश धंग के शासनकाल में हुआ है। 1305 में चंदेल राज्य को दिल्ली सल्तनत में मिलाये जाने के बाद इस पर मुस्लिम प्रभुत्व हो गया और इसके मंदिरों का विकास क्रम रुक गया।

Recommended Books

प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण पुस्तकें आप यहाँ से खरीद सकते हैं और लोकप्रिय उपन्यासों को यहाँ से खरीदें। धन्यवाद !

सुगम ज्ञान टीम का निवेदन

प्रिय पाठको,
आप सभी को सुगम ज्ञान टीम का प्रयास पसंद आ रहा है। अपने Comments के माध्यम से आप सभी ने इसकी पुष्टि भी की है। इससे हमें बहुत ख़ुशी महसूस हो रही है। हमें आपकी सहायता की आवश्यकता है। हमारा सुगम ज्ञान नाम से YouTube Channel भी है। आप हमारे चैनल पर समसामयिकी (Current Affairs) एवं अन्य विषयों पर वीडियो देख सकते हैं। हमारा आपसे निवेदन है कि आप हमारे चैनल को SUBSCRIBE कर लें। और कृपया, नीचे दिए वीडियो को पूरा अंत तक देखें और लाइक करते हुए शेयर कर दीजिये। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

सुगम ज्ञान से जुड़े रहने के लिए

Add to Home Screen

चर्चा
(अब तक देखा गया कुल 1,011 बार, 1 बार आज देखा गया)
कृपया पोस्ट शेयर करें...