You are currently viewing प्रणब मुखर्जी का जीवन परिचय
कृपया पोस्ट शेयर करें...

प्रणब मुखर्जी का जीवन परिचय – भारत के 13 वें राष्ट्रपति डॉ प्रणब मुखर्जी ( Dr. Pranab Mukherji ) की जीवनी यहाँ दी गयी है। 

जन्म व प्रारंभिक जीवन –

प्रणव मुखर्जी का जन्म 11 दिसंबर 1935 को पश्चिम बंगाल के वीरभूमि जिले के किरनाहर के निकट मिटरी गाँव के एक ब्राह्मण परिवार में हुआ। इनके पिता का नाम कामदा किंकर मुखर्जी था। इनके पिता एक स्वतंत्रता सेनानी थे। जिन्होंने 10 वर्ष से अधिक जेल की सजा भी काटी थी। वे पश्चिम बंगाल की विधान परिषद में 1952 से 1964 तक सदस्य रहे और वीरभूमि जिला कांग्रेस कमेटी के सदस्य भी रह चुके थे। इनकी माता का नाम राजलक्ष्मी मुखर्जी था।

शिक्षा –

इन्होंने वीरभूमि के सूरी विद्यासागर कॉलेज से शिक्षा ग्रहण की। कलकत्ता विश्वविद्यालय से इन्होंने इतिहास और राजनीति विज्ञान में स्नातकोत्तर और कानून की डिग्री प्राप्त की। इसके बाद इन्होंने मानद डीo लिटo की उपाधि भी हासिल की।

वैवाहिक जीवन –

प्रणव मुखर्जी का विवाह 22 वर्ष की अवस्था में 13 जुलाई 1957 को शुभ्रा मुखर्जी से हुआ जो बांग्लादेश के नारायेल की थीं। इनके दो बेटे ( अभिजीत और इंद्रजीत ) और एक बेटी शर्मिष्ठा कुल तीन संतान हैं। इनकी पत्नी का निधन 18 अगस्त 2015 को हो गया।

करियर –

करियर के रूप में सबसे पहले इन्होंने 1963 ईo में विद्यानगर कॉलेज में राजनीति शास्त्र के प्राध्यापक के रूप में शुरुवात की। और बाद में पत्रकार के रूप में कार्य शुरु किया। इन्होंने पोस्ट एंड टेलीग्राफ ऑफिस में एक क्लर्क के तौर पर भी नौकरी की। इसके अतिरिक्त ये एक अच्छे वकील, ‘बंगाल साहित्य परिषद्‘ के ट्रस्टी और ‘अखिल भारत बंग साहित्य सम्मलेन‘ के अध्यक्ष भी रह चुके हैं।

इसे भी पढ़ें...  रानी लक्ष्मीबाई का जीवन परिचय

राजनीतिक करियर –

इन्होंने अपने राजनीतिक करियर की शुरुवात 1969 ईo में कांग्रेस की ओर से राज्यसभा सदस्य के रूप में की। इसके बाद 1975, 1981, 1993 और 1999 में फिर चुने गए। 1973 ईo में औद्योगिक विकास विभाग में केंद्रीय उप-मंत्री के रूप में नियुक्त किये गए। 1997 ईo में इन्हें सर्वश्रेष्ठ सांसद चुना गया। 2004 में इन्होंने पहली बार लोकसभा की जंगीपुर ( पश्चिम बंगाल ) सीट से चुनाव लड़ा और जीत हासिल की।

अहम राजनीतिक पद  –

  • इंदिरा गाँधी की सरकार में 15 जनवरी 1982 से 31 दिसंबर 1984 तक वित्त मंत्री के पद पर कार्य किया।
  • पीo वीo नरसिम्हा राव सरकार में 24 जून 1991 से 15 मई 1996 तक योजना आयोग के उपाध्यक्ष रहे।
  • पीo वीo नरसिम्हा राव सरकार में  10 फरवरी 1995 से 16 मई 1996 तक भारत के विदेश मंत्री रहे।
  • मनमोहन सिंह की सरकार में 22 मई 2004 से 26 अक्टूबर 2006 तक भारत के रक्षा मंत्री रहे।
  • मनमोहन सरकार में 24 जनवरी 2009 से 26 जून 2012 तक भारत के केंद्रीय मंत्रिमंडल में वित्त मंत्री के पद पर कार्य किया।

राष्ट्रपति के तौर पर –

पीo एo संगमा को 70% वोटों से हराकर 25 जुलाई 2012 को प्रणव मुखर्जी गणतंत्र भारत के 13 वें राष्ट्रपति बने। और इस पद पर अपने 5 वर्ष के कार्यकाल को पूरा कर 25 जुलाई 2017 को सेवानिवृत्त हुए। ये पहले बंगाली थे जो राष्ट्रपति बने।

इसे भी पढ़ें...  सरदार वल्लभ भाई पटेल का जीवन परिचय

सम्मान व पुरस्कार –

  • 1984 में यूरेनमनी पत्रिका द्वारा विश्व के सर्वश्रेष्ठ वित्त मंत्री के रूप में इनका मूल्यांकन किया गया।
  • 2007 में इन्हें देश के दूसरे सर्वोच्च नागरिक सम्मान पद्म विभूषण से सम्मानित किया गया।
  • 2010 में इन्हें फाइनेंस मिनिस्टर ऑफ़ द ईयर फॉर एशिया से सम्मानित किया गया।

निधन –

31 अगस्त 2020 को 84 वर्ष की आयु में दिल्ली में निधन हो गया।

Recommended Books

प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण पुस्तकें आप यहाँ से खरीद सकते हैं और लोकप्रिय उपन्यासों को यहाँ से खरीदें। धन्यवाद !

सुगम ज्ञान टीम का निवेदन

प्रिय पाठको,
आप सभी को सुगम ज्ञान टीम का प्रयास पसंद आ रहा है। अपने Comments के माध्यम से आप सभी ने इसकी पुष्टि भी की है। इससे हमें बहुत ख़ुशी महसूस हो रही है। हमें आपकी सहायता की आवश्यकता है। हमारा सुगम ज्ञान नाम से YouTube Channel भी है। आप हमारे चैनल पर समसामयिकी (Current Affairs) एवं अन्य विषयों पर वीडियो देख सकते हैं। हमारा आपसे निवेदन है कि आप हमारे चैनल को SUBSCRIBE कर लें। और कृपया, नीचे दिए वीडियो को पूरा अंत तक देखें और लाइक करते हुए शेयर कर दीजिये। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

सुगम ज्ञान से जुड़े रहने के लिए

Add to Home Screen

चर्चा
(अब तक देखा गया कुल 3,547 बार, 1 बार आज देखा गया)
कृपया पोस्ट शेयर करें...