You are currently viewing हिंदी में सर्वप्रथम, कुछ रोचक जानकारी
कृपया पोस्ट शेयर करें...

हिंदी में सर्वप्रथम, कुछ रोचक जानकारी/तथ्यों को इस लेख में हम आपके लिए लेकर आये हैं। निःसंदेह इस लेख से आपका हिंदी सम्बन्धी ज्ञान बढ़ेगा।

  • संस्कृत से उपजी भारतीय आर्यभाषाओं के अपभ्रंश से 1050 से 1150 के बीच हिन्दी का जन्म माना गया है।
  • 1165 से 1192 के बीच दरबारी कवि चन्दबरदाई ने ‘पृथ्वीराज रासो‘ के रूप में हिंदी साहित्य की पहली रचना की।
  • परीक्षा गुरु‘ हिंदी का प्रथम उपन्यास है, जिसे लाला श्रीनिवास दास ने लिखा था।
  • नहुष‘ हिंदी का पहला मौलिक नाटक माना जाता है। जिसे गोपाल चन्द्र ने लिखा है।
  • 1796 में कलकत्ता (कोलकाता) से प्रकाशित जॉन गिलक्रिस्ट की ‘ग्रामर ऑफ हिंदुस्तानी लेंग्वेज‘ टाइप आधारित देवनागरी में प्रकाशित पहली किताब थी।
  • हिंदी का पहला समाचार-पत्र ‘उदन्त मार्तण्ड’ 30 मई 1826  को पं. जुगलकिशोर शुक्ल के सम्पादन में निकला था।

उदन्त मार्तण्ड

  • हिन्दीभाषी प्रदेशों में सबसे पहले बिहार में 1835 में हिंदी आंदोलन शुरू हुआ।
  • हिंदी को राष्ट्रभाषा बनाने का विचार सबसे पहले गुजराती कवि श्रीनर्मद (1833 -86) ने रखा था।
  • भारत में पहली बार हिंदी में स्नातकोत्तर की पढ़ाई कलकत्ता विश्वविद्यालय के कुलपति सर आशुतोष मुखर्जी ने फोर्ट विलियम कॉलेज में 1919 में शुरू कराई।
  • साल 1930 में पहली हिंदी टाइपराइटर अस्तित्व में आया।
  • 1931 में अर्देशिर ईरानी ने भारत की पहली बोलती फिल्म ‘आलम आरा’ हिंदी में बनाई।
  • लोकसभा में 15 मई 1952 को पहली बार हिंदी में संबोधन सीकर के तत्कालीन ज्ञानपीठ पुरस्कार 1968 में सुमित्रानंदन पंत को दिया गया।
  • पहला विश्व हिंदी सम्मेलन 10-12 जनवरी 1975 को भारत में हुआ,जिसमें 30 देशों के प्रतिनिधियों ने भाग लिया।
  • संयुक्त राष्ट्र संघ में पहली बार हिंदी में भाषण 1977 में तत्कालीन विदेश मंत्री अटल बिहारी वाजपेयी ने दिया।
  • इलाहाबाद हाईकोर्ट के न्यायमूर्ति रहे स्व. प्रेम शंकर गुप्त हिंदी में निर्णय देने वाले पहले न्यायाधीश थे।
  • हिंदी की पहली इंटरनेट पत्रिका भारत-दर्शन न्यूजीलैंड से प्रकाशित हुई।
  • पेशे से इंजीनियर आलोक कुमार ने 21 अप्रैल 2003 को हिंदी का पहला ब्लॉग ‘नौ दो ग्यारह’ शुरू किया।
  • देश का पहला राष्ट्रीय हिंदी संग्रहालय आगरा में स्थापित करने की योजना है।

श्रोत: इंटरनेट एवं हिन्दुस्तान समाचार पत्र

नोट: हिंदी के इतिहास की कुछ तिथियों और तथ्यों पर विद्वानों में मतभेद रहा है। यहाँ बहुसंख्य की मान्यता के आधार पर विवरण दिया गया है।

सुगम ज्ञान टीम का निवेदन

प्रिय पाठको,
आप सभी को सुगम ज्ञान टीम का प्रयास पसंद आ रहा है। अपने Comments के माध्यम से आप सभी ने इसकी पुष्टि भी की है। इससे हमें बहुत ख़ुशी महसूस हो रही है। हमें आपकी सहायता की आवश्यकता है। हमारा सुगम ज्ञान नाम से YouTube Channel भी है। आप हमारे चैनल पर समसामयिकी (Current Affairs) एवं अन्य विषयों पर वीडियो देख सकते हैं। हमारा आपसे निवेदन है कि आप हमारे चैनल को SUBSCRIBE कर लें। और कृपया, नीचे दिए वीडियो को पूरा अंत तक देखें और लाइक करते हुए शेयर कर दीजिये। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

सुगम ज्ञान से जुड़े रहने के लिए

Add to Home Screen

चर्चा
(अब तक देखा गया कुल 4,268 बार, 2 बार आज देखा गया)
कृपया पोस्ट शेयर करें...