You are currently viewing GST वस्तु एवं सेवा कर
कृपया पोस्ट शेयर करें...

GST वस्तु एवं सेवा कर – भारत में GST लागू होना आर्थिक नीति में दशकों बाद इतना बड़ा परिवर्तन साबित हुआ। GST के इतिहास पर नजर डाली जाये तो विश्व को इससे परिचित करवाने वाला देश फ्रांस था। फ़्रांस में सन् 1954 में GST को लागू किया गया। विश्व में GST को लागू करने वाला फ्रांस पहला देश है।

भारतीय परिपेक्ष में वस्तु एवं सेवा कर (GST)

भारत में GST के लिए 122 वां संविधान संशोधन बिल 2014 में संसद में लाया गया। इसे 3 अगस्त 2016 को लोकसभा से तदुपरांत 8 अगस्त 2016 को राज्यसभा से पास कर दिया गया। इसके बाद 8 सितंबर 2016 को राष्ट्रपति की मंजूरी के बाद यह अधिनियम बन गया। सबसे पहले इसे 12 अगस्त 2016 को असोम में लागू किया गया। संपूर्ण भारत में इसे 1 जुलाई 2017 को लागू किया गया। जो कि फ़्रांस के नहीं बल्कि कनाडा के मॉडल पर आधारित है। GST एक प्रकार का अप्रत्यक्ष कर है। भारत में GST लागू करने का सुझाव विजय केलकर समिति ने दिया। इस प्रकार भारत GST लागू करने वाला विश्व का 161 वां देश बना।

GST ( Goods and Service Tax ) से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य –

  • GST परिषद् की स्थापना कब हुयी – 12 सितंबर 2016 
  • GST परिषद् में कुल कितने सदस्य हैं – 33 सदस्य 
  • GST कितने प्रकार का होता है – तीन 
  • GST के तीन प्रकार कौन-कौन से हैं – Integrated GST, Central GST, State GST
  • GST परिषद् का अध्यक्ष कौन होता है – वित्त मंत्री 
  • GST का ब्रांड एम्बेस्डर किसे बनाया गया – अमिताभ बच्चन 
  • सर्वप्रथम GST बिल का प्रारूप तैयार करने वाली समिति के अध्यक्ष कौन थे – असीम दास गुप्ता 
  • GST के तहत कितने स्लैव निर्धारित किये गए हैं – चार (5%, 12%, 18%, 28%)
  • GST का मुख्यालय कहाँ पर अवस्थित है – दिल्ली 
  • GST लागू करने वाला भारत का पहला राज्य कौनसा है  – असोम 
  • GST लागू करने वाला भारत का अंतिम राज्य – जम्मू कश्मीर 
  • GST पंजीकरण संख्या में कितने अंक होते हैं – 15 
  • किन वरतुओं को GST से बाहर रखा गया है – शराब, पेट्रोलियम उत्पाद, रेलवे, स्वास्थ्य सेवाएं 
  • राज्यों को GST से होने वाले नुकसान की भरपाई केंद्र सरकार द्वारा कितने समय तक की जाएगी – 5 वर्ष 
इसे भी पढ़ें...  अर्थव्यवस्था से सम्बंधित प्रश्न उत्तर

GST पर प्रश्नोत्तरी वीडियो

Recommended Books

प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण पुस्तकें आप यहाँ से खरीद सकते हैं और लोकप्रिय उपन्यासों को यहाँ से खरीदें। धन्यवाद !

सुगम ज्ञान टीम का निवेदन

प्रिय पाठको,
आप सभी को सुगम ज्ञान टीम का प्रयास पसंद आ रहा है। अपने Comments के माध्यम से आप सभी ने इसकी पुष्टि भी की है। इससे हमें बहुत ख़ुशी महसूस हो रही है। हमें आपकी सहायता की आवश्यकता है। हमारा सुगम ज्ञान नाम से YouTube Channel भी है। आप हमारे चैनल पर समसामयिकी (Current Affairs) एवं अन्य विषयों पर वीडियो देख सकते हैं। हमारा आपसे निवेदन है कि आप हमारे चैनल को SUBSCRIBE कर लें। और कृपया, नीचे दिए वीडियो को पूरा अंत तक देखें और लाइक करते हुए शेयर कर दीजिये। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

सुगम ज्ञान से जुड़े रहने के लिए

Add to Home Screen

चर्चा
(अब तक देखा गया कुल 701 बार, 1 बार आज देखा गया)
कृपया पोस्ट शेयर करें...