स्वागतम्
पर्यायवाची शब्द ( Hindi Synonyms )
कृपया पोस्ट शेयर करें...

पर्यायवाची शब्द ( Hindi Synonyms ) – जिन शब्दों के अर्थ में समानता होती है, वे ‘पर्यायवाची शब्द’ कहलाते हैं। पर्यायवाची शब्द को ‘प्रतिशब्द’ भी कहा जाता है। किसी भी भाषा में पर्यायवाची शब्दों की जितनी अधिकता होती है, वह भाषा उतनी ही सम्पन्न होती है। संस्कृत भाषा में इनकी अधिकता है। हिन्दी भाषा के पर्यायवाची शब्द संस्कृत भाषा के ‘तत्सम शब्द’ हैं, जिन्हें हिंदी भाषा में ज्यों-का-त्यों ले लिया गया है।

शब्द पर्यायवाची शब्द
आग अग्नि, वह्नि, पावक, अनल, वायुसखा, दहन, धूमकेतु, कृशानु।
असुर दानव, दनुज, दैत्य, राक्षस, यातुधान, निशिचर, रजनीचर।
अनोखा अनुपम, अद्भुत, अपूर्व, अनूठा, अद्वितीय, अतुल।
अमृत पीयूष, सुधा, अमिय, जीवनोदक।
घोड़ा वाजि, हय, घोटक, सैन्धव, अश्व, तुरग, तुरंग।
आँख नेत्र, लोचन, नयन, चक्षु, दृग, अक्षि, अम्बक, विलोचन, दृष्टि।
आसमान अनन्त, आकाश, द्यौ, व्योम, गगन, अभ्र, अम्बर, नभ, अन्तरिक्ष।
आम आम्र, चूत, रसाल, अमृतफल, सहकार, अतिसौरभ, च्युत, (आम का पेड़) .
सुख मोद, प्रमोद, हर्ष, आमोद, प्रसन्नता, आह्लाद, आनन्द, उल्लास।
आश्रम मठ, विहार, कुटी, स्तर, अखाड़ा, संघ।
इच्छा आकांक्षा, ईप्सा, अभिलाषा, चाह, कामना, मनोरथ, स्पृहा, ईहा, वांछा।
इन्द्र देवराज, सुरपति, मघवा, पुरन्दर, वासव, महेन्द्र।
कपड़ा पट, वसन, वस्त्र, अम्बर, चीर।
कमल तामरस, नलिन, सरसिज, सरोज, जलज,अब्ज, पंकज, अरविन्द, पद्म, कंज, शतदल, अम्बुज।
किरण गो, मरीचि, मयूख, अंशु, कर, रश्मि, प्रभा, अर्चि।
कुबेर कित्ररेश, यक्षराज, धनद, धनाधिप, राजराज।
गणेश लम्बोदर, एकदन्त, मूषकवाहन, गजवदन, गजानन, विनायक, मोददाता, गणपति, विघ्ननाशक, भवानीनन्दन, महाकाय, विघ्नराज, मोदकप्रिय।
गंगा जाह्ववी, देवनदी, सुरसरित, भागीरथी, मन्दाकिनी, देवापागा, ध्रुवनंदा।
घर गेह, निकेतन, भवन, सदन, आगार, आयतन, आवास, निलय, धाम, गृह।
गदहा खर, गर्दभ, धूसर, रासभ, बेशर, चक्रीवान, वैशाखनन्दन।
चन्द्र चाँद, हिमांशु, चन्द्रमा, सुधांशु, सुधाकर, सुधाधर, राकेश, शशि, सारंग, निशाकर, निशापति, रजनीपति, मृगांक, कलानिधि।
चोर तस्कर, दस्यु, रजनीचर, मोषक, कुम्भिल, खनक, साहसिक।
पानी नीर, सलिल, उदक, जल, अम्बु, तोय, जीवन, वारि, पय, अमृत, मेघपुष्प।
यमुना सूर्यसुता, सूर्यतनया, कालिन्दी, अर्कजा, कृष्णा।
तालाब सर, सरोवर, तड़ाग, ह्रद, पुष्कर, जलाशय, पद्माकर।
नौकर दास, अनुचर, चाकर, सेवक, भृत्य, किंकर, परिचारक।
दुःखपीड़ा, व्यथा, कष्ट, संकट, शोक, क्लेश, वेदना, यातना, यन्त्रणा, खेद।
देवता सुर, अमर, देव, निर्जर, विबुध, त्रिदश, आदित्य, गीर्वाण।
द्रव्यधन, वित्त, सम्पदा, विभूति, दौलत, सम्पत्ति।
नदी सरिता, तटिनी, आपगा, निम्नगा, निर्झरिणी, कुलंकषा, तरंगिणी।
नाव नौका, तरिणी, जलयान, जलपात्र, तरी, बेडा, डोंगी, पतंग।
पत्नी भार्या, ,दारा, गृहिणी, बहू, वधू, कलत्र, प्राणप्रिया, अर्धागिनी।
पतिभर्ता, वल्लभ, स्वामी, आर्यपुत्र।
वायु हवा, समीर, मरुत, वात, बयार, प्रकम्पन, समीरण, पवन।
पक्षी खग, विहंग, विहग, पखेरू, परिंदा, चिड़िया, शकुन्त, अण्डज, पतंग, द्विज।
पर्वत शैल, भूधर, अचल, महीधर, गिरि, नग, भूमिधर, तुंग, अद्री, पहाड़।
पण्डित सुधी, विद्वान्, कोविद, बुध, धीर, मनीषी, प्राज्ञ, विचक्षण।
बेटा पुत्र, तनय, सूत, लड़का, आत्मज, तनुज।
बेटी तनया, सुता, पुत्री, आत्मजा, दुहिता, नन्दिनी, तनुजा।
पृथ्वीभू, इला, भूमि, धरा, उर्वी, धरती, धरित्री, धरणी, वसुधा, वसुन्धरा।
पुष्प फूल, सुमन, कुसुम, प्रसून।
बाण तीर, शर, विशिख, आशुग, शिलीमुख, इषु, नाराच।
बिजली चंचला, चपला, विधुत, सौदामनी, दामिनी, तड़ित, बीजुरी, ,क्षणप्रभा।
ब्रह्मा आत्मभू, स्वयम्भू, चतुरानन, पितामह, हिरण्यगर्भ, लोकेश, विधि, विधाता।
वृक्ष तरु, द्रुम, पादप, विटप, अगम, पेड़, गाछ।
मछली मीन, मत्स्य, जलजीवन, सफरी ( शफरी ), झष ( झख )
शिवशम्भु, ईश, शंकर, शिव, चन्द्रशेखर, महेश्वर, महादेव, भव, भूतेश, गिरीश, हर, त्रिलोचन।
मेघ घन, जलधर, वारिद, बांदल , नीरद, वारिधर, पयोद, अम्बुद, पयोधर।
सन्त मुनि, यती, अवधूत, सन्यासी, वैरागी, तापस, भिक्षु, महात्मा, साधु, मुक्तपुरुष।
रातरात्रि, शर्वरी, निशा, रैन, रजनी, यामिनी, त्रियामा, विभावरी, क्षणदा।
राजा नृप, भूप, महीप, महीपति, नरपति, नरेश, भूपति, राव, सम्राट।
विष्णु गरुड़ध्वज, अच्युत, जनार्दन, चक्रपाणि, विश्र्वम्भर, मुकुन्द, नारायण, हृषिकेश, दामोदर, केशव, माधव, गोविन्द, लक्ष्मीपति, विभु, विश्वरूप।
समुद्र सागर, जलधि, पारावार, सिन्धु, नीरनिधि, नदीश, पयोधि, अर्णव, पयोनिधि, रत्नाकर, अब्धि, वारिश, जलधाम, निरधि।
समूह ,समूदाय, वृन्द, गण, संघ, पुंज, दल, झुण्ड, मण्डली, टोली, जत्था।
सरस्वती ब्राह्मी, भारती, भाषा, वाक्, गिरा, शारदा, वीणापाणि, वागीशा।
सर्प अहि, भुजंग, विषधर, व्याल, फणी, उरग, पन्नग, नाग, साँप।
सोना सुवर्ण, स्वर्ण, कंचन, हाटक, कनक, हिरण्य, हेम, जातरूप।
सूर्य मार्तण्ड, दिनकर, रवि, भास्कर, मरीची, प्रभाकर, सविता,पतंग, दिवाकर, हंस, आदित्य, भानु, अंशुमाली।
सिंह शार्दुल, व्याघ्र, पंचमुख, मृगराज, मृगेन्द्र, केशरी, केहरी, केशी, महावीर।
सुंदर रुचिर, चारु, रम्य, सुहावना, मनोहर, रमणीक, चत्ताकर्षक, ललित।
स्त्री नारी, वनिता, महिला, कान्ता, रमणी।
इसे भी पढ़ें...  अनेकार्थी शब्द / अनेकार्थक शब्द ( Anekarthi Shabd )
चर्चा
(अब तक देखा गया कुल 5,537 बार, 1 बार आज देखा गया)
कृपया पोस्ट शेयर करें...
Close Menu
Inline
Inline