स्वागतम्
कृपया पोस्ट शेयर करें...

भारत का निर्वाचन आयोग देश की निर्वाचन सम्बन्धी सबसे बड़ी संस्था है। यह एक स्थाई संवैधानिक निकाय है। इसका गठन संविधान के भाग-15 के अनुच्छेद-324 के तहत 25 जनवरी 1950 को किया गया। इसीलिए प्रत्येक वर्ष 25 जनवरी को मतदाता दिवस मनाया जाता है। मुख्य चुनाव आयुक्त की नियुक्ति 6 वर्ष या 65 वर्ष की आयु पूरी होने तक के लिए राष्ट्रपति द्वारा की जाती है। अन्य निर्वाचन आयुक्तों की नियुक्ति 6 वर्ष या 62 वर्ष की आयु पूर्ण होने तक के लिए की जाती है। 

सदस्य संख्या –

गठन के समय इसे एक सदस्यीय आयोग के रूप में बनाया गया था। बाद में अक्टूबर 1989 से आयोग को तीन सदस्यीय कर दिया गया और मुख्य निर्वाचन आयुक्त के अतिरिक्त दो अन्य आयुक्तों की नियुक्ति की गयी। परन्तु 2 जनवरी 1990 को इसे पुनः एक सदस्यीय बना दिया गया। 1 अक्टूबर 1993 को सरकार ने एक अध्यादेश पारित किया और पुनः दो अन्य निर्वाचन आयुक्तों की व्यवस्था कर दी। इसके बाद 1994 में अधिनियम बनाकर इस आयोग को त्रि-सदस्यीय बना दिया गया। वर्तमान में यही व्यवस्था है और चुनाव आयोग में 3 सदस्य ( 1 मुख्य निर्वाचन आयुक्त और 2 अन्य निर्वाचन आयुक्त ) होते हैं। 

भारत के अब तक के सभी मुख्य चुनाव आयुक्तों की सूची –

नाम कार्यकाल प्रारम्भ कार्यकाल समाप्त
सुकुमार सेन 21 मार्च 1950 19 दिसंबर 1958
के. वी. के. सुंदरम 20 दिसंबर 1958 30 सितंबर 1967
एस. पी. सेन वर्मा 1 अक्टूबर 1967 30 सितंबर 1972
डॉ. नागेंद्र सिंह 1 अक्टूबर 1972 6 फरवरी 1973
टी. स्वामीनाथन 7 फरवरी 1973 17 जून 1977
एस. एल. शकधर 18 जून 1977 17 जून 1982
आर. के. त्रिवेदी 18 जून 1982 31 दिसंबर 1985
आर. वी. एस. परिशास्त्री 1 जनवरी 1986 25 नवंबर 1990
श्रीमती वी. एस. रमादेवी (कार्यवाहक)26 नवंबर 1990 11 दिसंबर 1990
टी. एन. शेषन 12 दिसंबर 1990 11 दिसंबर 1996
एम. एस. गिल 12 दिसंबर 1996 13 जून 2001
जे. एम. लिंगदोह 14 जून 2001 7 फरवरी 2004
टी. एस. कृष्णमूर्ति 8 फरवरी 2004 15 मई 2005
बी. बी. टंडन 16 मई 2005 29 जून 2006
एन. गोपालस्वामी 30 जून 2006 20 अप्रैल 2009
नवीन चावला 21 अप्रैल 2009 29 जुलाई 2010
एस. वाई. कुरैशी 30 जुलाई 2010 10 जून 2012
वी. एस. संपत 11 जून 2012 15 जनवरी 2015
हरिशंकर ब्रह्मा 16 जनवरी 2015 18 अप्रैल 2015
नसीम अहमद जैदी 19 अप्रैल 2015 5 जुलाई 2017
अचल कुमार जोति 6 जुलाई 2017 22 जनवरी 2018
ओ. पी. रावत 23 जनवरी 2018 से वर्तमान
इसे भी पढ़ें...  राज्य विधान मण्डल

इलेक्ट्रॉनिक वोटिंग मशीन EVM –

भारत में EVM का पहली बार प्रयोग मई 1982 में पारुर विधानसभा क्षेत्र ( केरल ) के 50 बूथों पर किया गया। इसके बाद नवंबर 1998 में राजस्थान, मध्य प्रदेश व दिल्ली के विधानसभा चुनाव में बड़े पैमाने पर EVM का प्रयोग किया गया। परन्तु 1999 में गोवा EVM के माध्यम से पूरा चुनाव कराने वाला भारत का पहला राज्य बना।

किसी दल को राष्ट्रीय दल घोषित करने की शर्तें :-

  • संसदीय चुनाव में चार या अधिक राज्यों में पड़े कुल वैध वोटों का कमसे कम 6 % उस दल को प्राप्त हुआ हो।
  • विधानसभा की कम से कम चार सीटें जीती हों।
  • लोकसभा की कम से कम दो प्रतिशत सीटें हों कि कम से कम तीन राज्यों में हों।

राष्ट्रीय राजनीतिक दल –

  1. भारतीय राष्ट्रीय कांग्रेस
  2. भारतीय जनता पार्टी
  3. भारतीय कम्युनिस्ट दल
  4. भारतीय कम्युनिस्ट पार्टी ( मार्क्सवादी )
  5. बहुजन समाज पार्टी
  6. राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी
  7. तृणमूल कांग्रेस पार्टी

भारत में निर्वाचन सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य –

भारत में चुनाव में मतदान करने वाला पहला व्यक्ति – श्याम सरन नेगी

चर्चा
(अब तक देखा गया कुल 24 बार, 1 बार आज देखा गया)
कृपया पोस्ट शेयर करें...
Close Menu
Inline
Inline