स्वागतम्
कृपया पोस्ट शेयर करें...

नोबेल पुरस्कार के बारे में पूरी जानकारी – अल्फ्रेड नोबेल स्वीडन के एक महान वैज्ञानिक थे। 10 दिसंबर 1896 को उनकी मृत्यु हो गयी। मृत्यु से पूर्व उन्होंने अपनी अपार संपत्ति का एक हिस्सा एक ट्रस्ट के नाम कर दिया था। इनकी इच्छा थी कि इस पैसे के ब्याज से हर साल दुनिया के उन लोगों को सम्मानित किया जाए, जिनका कार्य मानव जाति की भलाई के लिए उत्कृष्ट हो। 

नोबेल पुरस्कार की स्थापना 1900 ईo मे स्वीडिश वैज्ञानिक अल्फ्रेड नोबेल की याद में नोबेल फाउंडेशन द्वारा की गयी। नोबेल फाउंडेशन की स्थापना 29 जून 1900 ईo को की गयी। इस फाउंडेशन में 5 सदस्य हैं जिनका मुखिया स्वीडन की किंग ऑफ काउंसिल द्वारा चुना जाता है। इन पुरस्कारों की व्यवस्था अल्फ्रेड नोबेल के स्वीडिश बैंक में जमा एक स्थिर कोष के ब्याज से हर वर्ष एक ट्रस्ट द्वारा की जाती है। चयनकर्ता हर साल अक्टूबर में नोबेल पुरस्कार प्राप्तकर्ताओं के नामों की घोषणा करते हैं। परन्तु पुरस्कारों का वितरण अल्फ्रेड नोबेल की पुण्य तिथि 10 दिसंबर को किया जाता है। 

1901 ईo में पहली बार नोबेल पुरस्कारों का वितरण किया गया। तब यह पुरस्कार शांति, साहित्य, भौतिकी, रसायन और चिकित्सा विज्ञान के क्षेत्र में किये गए उत्कृष्ट योगदान हेतु दिया जाता था। परन्तु 1968 ईo में स्वीडन के केंद्रीय बैंक ने अपनी 300 वीं वर्षगाँठ पर अर्थशास्त्र के नोबेल पुरस्कार की स्थापना की। अर्थशास्त्र का पहला नोबेल पुरस्कार 1969 ईo में रैगनर एंथोन क़टील और यान टिरबेरगेन को संयुक्त रूप से दिया गया। इन सभी पुरस्कारों का वितरण स्वीडन में किया जाता है। स्टॉकहोम में नोबेल पुरस्कार वहां के राजा द्वारा प्रदान किये जाते हैं। परन्तु शांति के नोबेल पुरस्कार का वितरण प्रतिवर्ष नॉर्वे की राजधानी ओस्लो में किया जाता है।

एक वर्ष में एक पुरस्कार संयुक्त रूप से अधिकतम 3 लोगों को दिया जा सकता है। उस पुरस्कार की धन राशि उन दो या तीन लोगों में आपस में बाँट दी जाती है। अब तक दो बार व्यक्तियों को मृत्योपरांत इस पुरस्कार से नवाजा जा चुका है। पहली बार 1931 ईo में एरिक एक्सल कार्लफेल्ड को और 1961 ईo में डैग हैमर्स क्योल्ड ( संयुक्त राष्ट्र के महासचिव ) को। परन्तु सन् 1974 ईo से यह नियम बना दिया गया कि अब किसी को भी मरणोपरांत यह पुरस्कार नहीं दिया जायेगा। शांति का पहला नोबेल पुरस्कार 1901 ईo में रेड क्रॉस के संस्थापक हेरी ड्यूनेट और फ्रेंच पीस सोसाइटी के संस्थापक अध्यक्ष फ्रेडरिक पेसी को संयुक्त रूप दिया गया था। महात्मा गाँधी जी का 5 बार शांति के नोबेल हेतु नामांकन किया परन्तु उन्हें इसके लिए नहीं चुना गया।

इसे भी पढ़ें...  भारत एवं विश्व के प्रमुख पुरस्कार

भारतीय नोबेल पुरस्कार विजेता:-

  • रवीन्द्रनाथ टैगोर (साहित्य) – 1913
  • सीo वीo रमन (भौतिकी) – 1930
  • मदर टेरेसा (शांति) – 1979 :- भारत की आजादी के बाद नोबेल पुरस्कार पाने वाली प्रथम नागरिक।
  • अमर्त्य सेन (अर्थशास्त्र) – 1998
  • कैलाश सत्यार्थी (शांति) – 2014

भारतीय मूल के नोबेल विजेता –

हरगोविंद खुराना (चिकित्सा विज्ञान) – 1968

एसo चंद्रशेखर (भौतिकी) -1983

वी. एस. नायपॉल (साहित्य) – 2001

वेंकटरमन रामकृष्ण (रसायन) – 2009

नोबेल पुरस्कार 2018 के विजेता –

साहित्य –  इस बार प्रदान नहीं किया गया

शांति – डेनिस मुकवेगे (कांगो), नादिया मुराद (इराक)

चिकित्सा – जेम्स पी. एलिसन (अमेरिकी), तासुकु होंजो (जापान)

भौतिकी – ऑर्थर अश्किन (अमेरिकी), गेरार्ड मोरो (फ़्रांस), डोना स्ट्रिकलैंड (कनाडा)

रसायन विज्ञान – फ्रांसिस हेमिल्टन अर्नाल्ड (अमेरिकी), सर ग्रेगरी पी. विंटर (ब्रिटेन), जॉर्ज पी. स्मिथ (अमेरिकी)

अर्थशास्त्र – विलियम नोर्डहॉस (अमेरिकी), पॉल रोमर (अमेरिकी)

नोबेल पुरस्कार से सम्बंधित महत्वपूर्ण तथ्य –

  • भौतिकी का पहला नोबेल पुरस्कार किसे प्राप्त हुआ – विल्हेम कॉनराड रोंटजेन (एक्स-रे की खोज)
  • नोबेल पुरस्कार पाने वाली प्रथम महिला – मैरी क्यूरी (भौतिकी) – 1903 ईo
  • नोबेल पुरस्कार से सम्मानित प्रथम एशियाई व्यक्ति – रवीन्द्रनाथ टैगोर (साहित्य) – 1913 ईo
  • अब तक सर्वाधिक बार नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किसे किया गया है – अंतर्राष्ट्रीय रेड क्रॉस समिति (1917, 1944 और 1963 ईo)
  • नोबेल पुरस्कार पाने वाले पहले अफ्रीकी व्यक्ति – वंगारी माथाई (शांति) -2004 ईo
  • अंग्रेजी भाषा में साहित्य के क्षेत्र में नोबेल पुरस्कार से सम्मानित किये जाने वाले पहले व्यक्ति – रुडयार्ड किपलिंग (The Jungle Book के लिए) – 1907 ईo  में
  • नोबेल पुरस्कार पाने वाले अब तक के सबसे युवा व्यक्ति – 17 साल की मलाला यूसुफजई (शांति) -2014 
इसे भी पढ़ें...  सामान्य ज्ञान प्रश्न उत्तर भाग - 6

WhatsApp पर सुगम ज्ञान से जुड़ें

सुगम ज्ञान से कोई प्रश्न पूछने या सुझाव देने के लिए हमारे मोबाइल नम्बर 8410242335 पर WhatsApp करेें और हमारे सामान्य ज्ञान/समसामयिकी WhatsApp Group से जुड़ें, धन्यवाद।

चर्चा
(अब तक देखा गया कुल 66 बार, 1 बार आज देखा गया)
कृपया पोस्ट शेयर करें...
Close Menu
Inline
Inline