स्वागतम्
विश्व की जनसंख्या (Population of the World)
कृपया पोस्ट शेयर करें...

विश्व की जनसंख्या (Population of the World) – पृथ्वी पर बढ़ती आबादी और घटते संसाधन आधुनिक युग की सबसे विकराल समस्या है। ऐसा भी नहीं कि सभी देश इस समस्या से जूझ रहे हों। अपितु कुछ देश ऐसे भी हैं जो जनसंख्या न बढ़ने की समस्या से पीड़ित हैं। परन्तु ऐसे कुछ देश ही हैं। भारत की जनसंख्या भी भारत के लिए एक विकट समस्या बनती जा रही है। जनसंख्या की तीव्र गति से हुयी वृद्धि हमेशा से नहीं थी। यह समस्या मानव इतिहास में कुछ सदी पुरानी ही है।

मानव विकास के लाखों वर्षों और सभ्यताओं के हजारों वर्षों के इतिहास के बाद सन् 1830 में पृथ्वी पर मानव की कुल आवादी एक अरब हो गयी। यह आंकड़ा पाने को मानव को लाखो वर्ष लग गए। परन्तु इसके बाद अगले मात्र 100 वर्षों में ही अर्थात 1930 में पृथ्वी पर मानवों की जनसंख्या 02 अरब हो गयी। उसके बाद फिर एक अरब की आवादी बढ़ाने में मानवों को मात्र 30 वर्ष लगे अर्थात 1960 में पृथ्वी पर मनुष्यों की आबादी 03 अरब हो गयी। इसके बाद मात्र 15 वर्षों में ये आंकड़ा प्राप्त कर 1975 में हमारी आबादी 04 अरब हो गयी। इसके बाद मात्र 12 वर्षों में विश्व की जनसंख्या एक अरब बढ़ी और 11 जुलाई 1987 को पृथ्वी पर कुल जनसंख्या 05 अरब हो गयी। इस उपलक्ष्य में 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस मनाया गया। उसके फिर 12 वर्ष बाद एक अरब जनसंख्या की वृद्धि हुयी और 12 अक्टूबर 1999 को ये आंकड़ा 06 अरब हो गया। उसके 13 वर्ष बाद सन् 2012 में विश्व की कुल जनसंख्या 07 अरब को पार कर गयी। यह आंकड़ा निरंतर बढ़ता ही जा रहा है।

विश्व जनसंख्या : एक नजर में –

सन्विश्व जनसंख्या जनसंख्या वृद्धि लगा समय
1830 एक अरब 01 अरब लाखो वर्ष
1930 दो अरब 01 अरब 100 वर्ष
1960 तीन अरब 01 अरब 30 वर्ष
1975 चार अरब 01 अरब 15 वर्ध
1987 पाँच अरब 01 अरब 12 वर्ष
1999 छः अरब 01 अरब 12 वर्ष
2012 सात अरब 01 अरब 13 वर्ष
इसे भी पढ़ें...  भारत की प्रमुख बहु-उद्देशीय नदी घाटी परियोजनाएं

विश्व महाद्वीपों में जनसंख्या घनत्व –

एशिया > यूरोप > उo अमेरिका > अफ्रीका > दo अमेरिका > ओशीनिया

पृथ्वी की 90% से अधिक जनसंख्या उत्तरी गोलार्द्ध में निवास करती है। बाकी 10% से भी कम आबादी दक्षिणी गोलार्द्ध में है।

विश्व के सर्वाधिक जनसंख्या वाले देश –

चीन > भारत > अमेरिका > इंडोनेशिया > ब्राजील

WhatsApp पर सुगम ज्ञान से जुड़ें

सुगम ज्ञान टीम को सुझाव देने के लिए हमारे लिए WhatsApp करेें और ऑनलाइन टेस्ट लेनें के लिए सुगम ऑनलाइन टेस्ट पर क्लिक करें, धन्यवाद।

चर्चा
(अब तक देखा गया कुल 180 बार, 1 बार आज देखा गया)
कृपया पोस्ट शेयर करें...
Close Menu
Inline
Inline