डेली करेंट अफेयर्स 3 अक्टूबर 2022 | Daily Current Affairs in Hindi

अरुणाचल प्रदेश में AFSPA को तीन माह के लिए बढ़ाया, भारत में 5जी सेवा शुरु, बुर्किनाफासो में एक बार फिर तख्तापलट…

सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून (AFSPA)

केंद्र सरकार ने अरुणाचल प्रदेश के 3 जिलों में सशस्त्र बल विशेषाधिकार कानून को 6 माह के लिए बढ़ा दिया है। गृह मंत्रालय द्वारा जारी अधिसूचना के अनुसार अरुणाचल प्रदेश के तीन जिलों तिरप, चांगलांग, और लोंगडिंग में यह कानून 1 अक्टूबर से 30 मार्च 2023 तक के लिए बढ़ा दिया गया है। इन जिलों की सुरक्षा स्थिति की समीक्षा के बाद यह कदम उठाया गया है। मार्च 2022 में घोषणा करते हुए केंद्र सरकार द्वारा कहा गया था कि वह असम, नागालैंड व मणिपुर में AFSPA के तहत क्षेत्रों को कम कर रही है। इसे असम के 23 जिलों, नागालैंड के 7 जिलों और मणिपुर के 6 जिलों से समाप्त कर दिया गया। इसे 11 सितंबर 1958 को अधिनियमित किया गया था।


सुगम ज्ञान मासिक क्विज

रजिस्ट्रेशन शुल्क मात्र ₹49/- ₹29/- है। जिसमें आपको पूरे महीने की करंट अफेयर्स पीडीएफ (ई-बुक) मिलेगी और अपनी तैयारी को जाँचने के साथ-साथ नकद इनाम जीतने का मौका मिलेगा। पहला, दूसरा व तीसरा स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को क्रमशः ₹300, ₹200 व ₹100 का नकद इनाम दिया जाएगा।


भारत में 5G सेवा शुरु –

भारत में 5जी सेवाओं को शुरु किया जा चुका है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 1 अक्टूबर 2022 को इसकी शुरुवात की। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने दिल्ली के प्रगति मैदान में आयोजित इंडियन मोबाइल कांग्रेस 2022 के दौरान देश के कुछ चुनिंदा शहरों में 5जी सेवा की शुरुवात की। इस सेवा को अगले 2 सालों में पूरे देश में शुरु किया जाएगा। मोदी जी ने बताया कि आज देश में मोबाइल फोन बनाने वाले संयंत्रों की संख्या 200 से अधिक है। भारतीय दूरसंचार प्राधिकरण (TRAI) के अनुसार देश के चार स्थानों पर पहले ही 5जी का सफल प्रयोग किया जा चुका है। 5जी सेवा के पहले चरण में ये 13 शहर शामिल हैं – दिल्ली, मुम्बई, कोलकाता, चेन्नई, बेंग्लुरु, पुणे, गाँधीनगर, अहमदाबाद, जामनगर, चंडीगढ़, गुरुग्राम, हैदराबाद, लखनऊ।

बुर्किनाफासो मे तख्ता पलट

पश्चिम अफ्रीकी देश बुर्किनाफासो में राजनीतिक तख्तापलट की खबरें चर्चा में हैं। तख्तापलट करने वाले नए नेता कैप्टन इब्राहिम त्राओरे के समर्थकों ने फ्रांस के बुर्किनाफासो की राजधानी औगाडोउगोउ में फ्रांसीसी दूतावास के सामने प्रदर्शन किया। सत्ता से बेदखल किए गए अंतरिम निष्कासित राष्ट्रपति लेफ्टिनेंट कर्नल पॉल हेनरी सैंडाओगे डामिबा को फ्रांस में पनाह देने का आरोप है। हालांकि फ्रांसीसी अधिकारियों ने इस आरोप को खारिज किया है। महज नौ माह बाद ही इन्हें सत्ता से बेदखल कर दिया गया। ये भी सैन्य तख्तापलट से ही राष्ट्रपति बने थे।  

Leave a Comment

चैट खोलें
1
मदद चाहिए ?
Scan the code
हम आपकी किस प्रकार सहायता कर सकते हैं ?