भारत की जनजातियाँ (Tribes of India)
कृपया पोस्ट शेयर करें...

भारत की जनजातियाँ (Tribes of India) – जनजातियों की कुछ विशेषताएं होती हैं। जैसे – आदिम लक्षण, भौगोलिक अलगाव, विशिष्ट संस्कृति, आर्थिक रूप से पिछड़ापन, बाहरी समुदाय के साथ संपर्क करने में संकोच इत्यादि।

भारतीय संविधान द्वारा अनुसूचित जनजातियों को परिभाषित नहीं किया गया है। इसलिए संविधान के अनुच्छेद – 366 (25) के तहत इसके सन्दर्भ में उन समुदायों की ओर इशारा किया गया है जिन्हें अनुच्छेद – 342 के अनुसार अनुसूचित किया गया है। राष्ट्रपति के द्वारा एक सार्वजनिक अधिसूचना करके इनकी घोषणा की गयी। ये जनजातियां देश के कुल क्षेत्रों के अतिरिक्त पुरे देश भर में पायी जाती हैं।

भारत की जनजातियाँ और उनके विस्तार क्षेत्र :-

जनजाति राज्य
भील मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़, आंध्रप्रदेश, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, महाराष्ट्र
गोंड गुजरात, बिहार, मध्यप्रदेश, आँध्रप्रदेश, कर्नाटक, झारखंड, ओडिसा, छत्तीसगढ़, झारखण्ड, प. बंगाल
संथाल बिहार, त्रिपुरा, ओडिसा, झारखण्ड, प. बंगाल
मीणा राजस्थान, मध्यप्रदेश
खोद बिहार, झारखण्ड, प. बंगाल, ओडिसा
मुंडा बिहार, झारखण्ड, छत्तीसगढ़, मध्यप्रदेश,ओडिसा, त्रिपुरा,प.बंगाल
नैकड़ा राजस्थान, गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक, गोवा, दमन-दीव, दादर-नागर हवेली
उरांव मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र
सुगेलिस आंध्रप्रदेश
नागा नागालैंड
बोरो असम
कोली महादेव महाराष्ट्र
खासी असम, मेघालय, मिजोरम
कोल मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिसा
वरली गुजरात, गोवा, महाराष्ट्र, कर्नाटक, दमन-दीव, दादर-नागर हवेली
कोकण राजस्थान, महाराष्ट्र, गुजरात, कर्नाटक, दादर-नागर हवेली
कंवर मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़, ओडिसा
हो बिहार, झारखण्ड, ओडिसा, प. बंगाल
गुज्जर हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर
कोरकू मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़
भूमिज झारखण्ड, ओडिसा, प. बंगाल
गारो नागालैंड, मिजोरम, मेघालय, असम, त्रिपुरा, प. बंगाल
कोया ओडिसा, महाराष्ट्र, आंध्रप्रदेश, कर्नाटक
लुशाई/एनिमिजो असम, मेघालय, मणिपुर, मिजोरम
हल्बा मध्यप्रदेश, महाराष्ट्र, छत्तीसगढ़
धरुआ गुजरात, महाराष्ट्र, कर्णाटक, गोवा, दमन-दीव, दादर नगर हवेली
दुबला गुजरात, गोवा, महाराष्ट्र, दमन-दीव, दादर नगर हवेली
मिरी/मिसिंग असम, अरुणाचल प्रदेश
त्रिपुरी त्रिपुरा
राठवा गुजरात, महाराष्ट्र, कर्नाटक
सहरिया मध्यप्रदेश, राजस्थान, छत्तीसगढ़

प्रायोजित

सुगम ज्ञान टीम का निवेदन

प्रिय पाठको,
आप सभी को सुगम ज्ञान टीम का प्रयास पसंद आ रहा है। अपने Comments के माध्यम से आप सभी ने इसकी पुष्टि भी की है। इससे हमें बहुत ख़ुशी महसूस हो रही है। हमें आपकी सहायता की आवश्यकता है। हमारा सुगम ज्ञान नाम से YouTube Channel भी है। आप हमारे चैनल पर समसामयिकी (Current Affairs) एवं अन्य विषयों पर वीडियो देख सकते हैं। हमारा आपसे निवेदन है कि आप हमारे चैनल को SUBSCRIBE कर लें। और कृपया, नीचे दिए वीडियो को पूरा अंत तक देखें और लाइक करते हुए शेयर कर दें अर्थात वायरल कर दीजिये। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

सुगम ज्ञान से जुड़े रहने के लिए

Add to Home Screen

चर्चा
(अब तक देखा गया कुल 3,161 बार, 4 बार आज देखा गया)
कृपया पोस्ट शेयर करें...