स्वागतम्
कृपया पोस्ट शेयर करें...

उपसर्ग की परिभाषा और प्रकार – उपसर्ग = उप + सर्ग में उप अर्थात समीप, सर्ग अर्थात सृष्टि करना। इस तरह उपसर्ग से तात्पर्य किसी शब्द के समीप आकर नए शब्द की सृष्टि करने से है। वे शब्दांश जो किसी शब्द के प्रारंभ में जुड़कर शब्द में विशेषता लाते हैं, वे उपसर्ग कहलाते हैं। जैसे हार शब्द का अर्थ होता है पराजय परन्तु उससे पूर्व ‘उप’ लगा देने से नया शब्द उपहार बनता है जिसका अर्थ हार से सदैव भिन्न है।

हिंदी में प्रचलित उपसर्गों को विभिन्न भागों में विभक्त किया गया है।

संस्कृत के उपसर्ग (22)

हिंदी के उपसर्ग (13)

उर्दू व फारसी के उपसर्ग (19)

अंग्रेजी के उपसर्ग

उपसर्ग के समान प्रयुक्त होने वाले संस्कृत के अवयव।

संस्कृत के उपसर्ग (22)

उपसर्ग अर्थ शब्द
अति अधिक अत्यधिक, अत्यंत, अतिरिक्त, अतिशय
अधि श्रेष्ठ, ऊपर अधिपति, अधिनायक, अधिकार
अनु समान, पीछे अनुसार, अनुशासन, अनुचर, अनुकरण
अप हीन, बुरा अपकार, अपमान, अपयश
अभि पास, सामने, चारो ओर अभिनय, अभिषेक, अभिमुख, अभियान
अव नीच, हीन अवतार, अवनति, अवतरण, अवगुण
तक, समेत आक्रमण, आरक्षण, आजीवन, आगमन
उत्ऊपर, श्रेष्ठ, ऊँचा उत्कर्षं, उत्पत्ति, उत्तम
उद्उत्कर्ष, ऊपर उद्भव, उद्गम
उप निकट, गौण, सदृश उपहार, उपमंत्री, उपवन, उपदेश
दुर्कठिन, बुरा दुराचार, दुर्दशा, दुर्जन, दुर्गम
दुस्कठिन, बुरा दुष्कर, दुस्साहस, दुश्चरित्र
निर्निषेध, बाहर, बिना निर्जन, निराकार, निर्गुण, निरापराध
निस्पूरा, विपरीत, रहित निस्तार, निश्चित, निस्सार, निस्सार
नि नीचे, निषेध, अधिकता निषेध, नियोग, निपात, निवारण
परा पीछे, उल्टा पराभव, पराजय, पराक्रम, परामर्श
परि आसपास, चारो ओर परिमाण, परिपूर्ण, परिक्रमा, परिजन
प्र आगे, अधिक प्रस्थान, प्रबल, प्रकृति, प्रख्यात
प्रति उल्टा, हर एक, सामने प्रत्यक्ष, प्रतिकूल, प्रतिक्षण, प्रत्येक
वि भिन्न, विशेष वियोग, विलाप, विदेश, विपक्ष
सम्साथ, पूर्ण, उत्तम संगम, संभव, संस्कार, संतुष्ट
सु अधिक, अच्छा सुगम, सूजन, सुपात्र, सुशिक्षित
इसे भी पढ़ें...  मुहावरे और उनके अर्थ

हिंदी के उपसर्ग (13)

उपसर्ग अर्थ शब्द
आभाव, निषेध अटल, अछूता, अथाह
अन आभाव, निषेध अनपढ़, अनमोल, अनबन
बुरा, हीन कचोट, कपूत
कु बुरा कुचक्र, कुचाल,
दु कम, बुरा दुबला दुधारू, दुलारा
नि कमी निगोड़ा, निडर, निकम्मा, निहत्था
अव/औहीन, निषेध अवसर, अवगुण
भर पूरा भरमार, भरसक, भरपेट, भरपूर
सु अच्छा सुजान, सुफल, सुडौल
अध आधा अधपका, अधमरा
उन एक, कम उन्नीस, उन्तीस, उन्तालीस
पर दूसरा, बाद का परलोक, परोपकार, परहित
बिन बिना, निषेध बिनब्याह, बिनबादल

WhatsApp पर सुगम ज्ञान से जुड़ें

सुगम ज्ञान टीम को सुझाव देने के लिए हमारे लिए WhatsApp करेें और ऑनलाइन टेस्ट लेनें के लिए सुगम ऑनलाइन टेस्ट पर क्लिक करें, धन्यवाद।

चर्चा
(अब तक देखा गया कुल 18 बार, 1 बार आज देखा गया)
कृपया पोस्ट शेयर करें...
Close Menu
Inline
Inline