You are currently viewing भारत के उपराष्ट्रपति उनके कार्यकाल एवं सूची
कृपया पोस्ट शेयर करें...

भारत के उपराष्ट्रपति का देश का दूसरा उच्चतम संवैधानिक पद है। राष्ट्रपति के बाद यह देश का द्वितीय उच्चतम प्रतिष्ठित पदाधिकारी है। भारत के संविधान के अनुच्छेद 63 के अनुसार भारत का एक उपराष्ट्रपति होगा। उपराष्ट्रपति का कार्यकाल पाँच वर्ष का होता है। संविधान के अनुच्छेद 64 और 89 (1) के अनुसार उपराष्ट्रपति राज्यसभा का पदेन सभापति होता है।

उपराष्ट्रपति पद के लिए योग्यता :

कोई भी ऐसा व्यक्ति जो निम्न योग्यताएं रखता हो वह उपराष्ट्रपति चुना जा सकता है –

  1. वह भारत का नागरिक हो।
  2. 35 वर्ष की आयु पूरी कर चुका हो।
  3. अनुच्छेद 66 (3) ग के अनुसार राजयसभा का सदस्य निर्वाचित होने की योग्यता रखता हो।
  4. भारत सरकार या राज्य सरकार के अधीन किसी प्राधिकारी के नियंत्रण के अधीन कोई लाभ का पद धारण नहीं करता हो।

उपराष्ट्रपति का निर्वाचन :

उपराष्ट्रपति का निर्वाचन एक निर्वाचक मण्डल द्वारा किया जाता है जिसमें लोकसभा के सदस्य एवं राज्यसभा के सदस्य आते हैं। इसका वर्णन संविधान के अनुच्छेद 66 (1) में किया गया है। उपराष्ट्रपति पद के उम्मीदवार भी मतदान कर सकते हैं। निर्वाचन आनुपातिक प्रतिनिधित्व पद्धति के अनुसार एकल संक्रमणीय मत द्वारा होता है। उपराष्ट्रपति के निर्वाचन में राज्य की विधान सभाओं के सदस्यों को मत देने का अधिकार नहीं है। यही राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति के निर्वाचन में मुख्य अन्तर है।

इसे भी पढ़ें...  धारा 370 समाप्त, जम्मू-कश्मीर अब विशेष राज्य नहीं

भारत के उपराष्ट्रपति के कार्य –

इसके पास उप-राष्ट्रपति पद से संबंधित कोई औपचारिक दायित्व नहीं है। यह राष्ट्रपति के पद त्याग, अपदस्थीकरण, या मृत्यु की स्थिति में उसके कार्यों का निर्वहन करता है। राज्यसभा की अध्यक्षता उपराष्ट्रपति द्वारा की जाती है। परंतु वह राज्यसभा का सदस्य नहीं होता है।

उपराष्ट्रपति को पदच्युत करना –

इस संबंध में विधान अनुच्छेद 67 (b) में वर्णित हैं। इन्हें पदच्युत करने संबंधी प्रस्ताव सिर्फ राज्यसभा में ही प्रस्तुत किया जा सकता है। इस प्रस्ताव की सूचना 14 दिन पहले ही देनी होती है। इस प्रस्ताव का राज्यसभा से पारित होने के साथ लोकसभा की सहमति भी आवश्यक है।

भारत के उपराष्ट्रपतियों की सूची :

क्रमांक नाम कार्यकाल तत्कालीन राष्ट्रपतिविशेष विवरण
1.डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन 13 मई 1952 - 12 मई 1962डॉ. राजेंद्र प्रसाद
2.डॉ. जाकिर हुसैन 13 मई 1962 - 12 मई 1967डॉ. एस. राधाकृष्णन
3.वी. वी. गिरि13 मई 1967 - 3 मई 1969डॉ. जाकिर हुसैन
4.गोपाल स्वरूप पाठक 31 अगस्त 1969 - 30 अगस्त 1974वी. वी. गिरि,
फखरुद्दीन अली अहमद
5.बी. डी. जत्ती 31 अगस्त 1974 - 30 अगस्त 1979फखरुद्दीन अली अहमद,
नीलम संजीव रेड्डी
6.न्यायमूर्ति मो. हिदायतुल्ला 31अगस्त 1979 - 30 अगस्त 1984नीलम संजीव रेड्डी,
ज्ञानी जैल सिंह
7.आर. वेंकटरमण31 अगस्त 1984- 27 जुलाई 1987ज्ञानी जैल सिंह
8.डॉ. शंकरदयाल शर्मा 3 सितम्बर 1987 - 24 जुलाई 1992रामास्वामी वेंकटरमण
9. के.आर. नारायणन21 अगस्त 1992 - 24 जुलाई 1997डॉ. शंकरदयाल शर्मा
10.कृष्णकान्त 21अगस्त 1997- 27 जुलाई 2002के.आर. नारायणन,
डॉ. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम
11.भैरो सिंह शेखावत 19 अगस्त 2002 - 21 जुलाई 2007डॉ. ए. पी. जे. अब्दुल कलाम
12.हामिद अंसारी 11 अगस्त 2007 -19 जुलाई 2017श्रीमती प्रतिभा पाटिल,
प्रणव मुखर्जी,
रामनाथ कोविंद
13.वेंकैया नायडू08 अगस्त 2017 - अब तक रामनाथ कोविंद
इसे भी पढ़ें...  उत्तर प्रदेश के जिले (All Districts of UP)

उपराष्ट्रपति से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य –

  • डॉ. सर्वपल्ली राधाकृष्णन साल 1949 से 1952 तक U.S.S.R. में भारत के राजदूत रहे।
  • डॉ. जाकिर हुसैन जामिला मिलिया कॉलेज के प्रिंसिपल व शिक्षा शास्त्री रहे।
  • वी. वी. गिरि 1947 से 1951 ई. तक सिलोन (श्रीलंका) में भारत के उच्चायुक्त रहे।
  • के. आर. नारायणन चीन में भारत के राजदूत रहे।
  • फखरूद्दीन अली अहमद और नीलम संजीव रेड्डी भारत के उपराष्ट्रपति नहीं रहे। इन्होंने सीधे राष्ट्रपति का पद ग्रहण किया।

Recommended Books

प्रतियोगी परीक्षाओं के लिए महत्वपूर्ण पुस्तकें आप यहाँ से खरीद सकते हैं और लोकप्रिय उपन्यासों को यहाँ से खरीदें। धन्यवाद !

सुगम ज्ञान टीम का निवेदन

प्रिय पाठको,
आप सभी को सुगम ज्ञान टीम का प्रयास पसंद आ रहा है। अपने Comments के माध्यम से आप सभी ने इसकी पुष्टि भी की है। इससे हमें बहुत ख़ुशी महसूस हो रही है। हमें आपकी सहायता की आवश्यकता है। हमारा सुगम ज्ञान नाम से YouTube Channel भी है। आप हमारे चैनल पर समसामयिकी (Current Affairs) एवं अन्य विषयों पर वीडियो देख सकते हैं। हमारा आपसे निवेदन है कि आप हमारे चैनल को SUBSCRIBE कर लें। और कृपया, नीचे दिए वीडियो को पूरा अंत तक देखें और लाइक करते हुए शेयर कर दीजिये। आपका बहुत-बहुत धन्यवाद।

सुगम ज्ञान से जुड़े रहने के लिए

Add to Home Screen

चर्चा
(अब तक देखा गया कुल 14,767 बार, 4 बार आज देखा गया)
कृपया पोस्ट शेयर करें...