logo

सुगम ज्ञान

searchbar
सुगम ज्ञान
समसामयिकी

अर्थशास्त्र

Share

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) और भारतीय बैंकिंग प्रणाली

sugamgyan

Jul 19, 2017

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) और भारतीय बैंकिंग प्रणाली main image

भारतीय रिज़र्व बैंक (RBI) और भारतीय बैंकिंग प्रणाली – भारतीय बैंकिंग प्रणाली को भारतीय रिज़र्व बैंक (Reserve Bank of India / RBI) नियन्त्रित करती है। यहाँ पर बैंकिंग प्रणाली के विकास के विभिन्न सोपानों की जानकारी दी गई है।

  • बैंक ऑफ़ हिन्दुस्तान भारत का पहला बैंक था, इसकी स्थापना कोलकाता में एलेक्जेंडर एण्ड कम्पनी द्वारा 1770 ई. में यूरोपीय पद्धति में की गई थी।
  • भारतीयों द्वारा संचालित सीमित देयता के आधार पर भारत का प्रथम बैंक, अवध कॉमर्शियल बैंक (1881) तथा पूर्ण स्वामित्व वाला प्रथम भारतीय बैंक पंजाब नेशनल बैंक ( Punjab National Bank / PNB ) (1894) था।
  • बैंक ऑफ़ बंगाल की 2 जून 1806 को, बैंक ऑफ़ बॉम्बे की 15 अप्रैल 1840 को तथा बैंक ऑफ़ मद्रास की 1 जुलाई 1843 को स्थापना हुई। बाद में, 27 जनवरी 1921 को इन तीनों बैंकों को मिलाकर एक एकल बैंक ‘इम्पीरियल बैंक ऑफ़ इण्डिया’ की स्थापना की गयी।
  • इम्पीरियल बैंक ऑफ़ इण्डिया ( Imperial Bank of India / IBI ), भारतीय उपमहाद्वीप का सबसे पुराना व बड़ा व्यावसायिक ( Commercial ) बैंक था। जिसे 1 जुलाई 1955 को राष्ट्रीयकरण के बाद से भारतीय स्टेट बैंक (state bank of India) के नाम से जान गया।
  • स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के राष्ट्रीयकरण के समय इसके 8 सहयोगी बैंकों का भी राष्ट्रीयकरण किया गया था, परन्तु सरकार ने बाद में स्टेट बैंक ऑफ़ इंदौर तथा स्टेट बैंक ऑफ़ सौराष्ट्र का विलय स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया में कर दिया।

स्टेट बैंक ऑफ़ इंडिया के सहयोगी बैंक –

स्टेट बैंक ऑफ़ त्रावणकोर, स्टेट बैंक ऑफ़ पटियाला, स्टेट बैंक ऑफ़ मैसूर, स्टेट बैंक ऑफ़ हैदराबाद, स्टेट बैंक ऑफ़ बीकानेर एंड जयपुर।

भारतीय महिला बैंक –

सरकार ने महिला सशक्तीकरण को बढ़ावा देने के लिये 5 अगस्त 2013 को भारतीय महिला बैंक की स्थापना की। इसकी प्रथम चैयरमैन सह-प्रबन्ध निदेशक उषा अनन्त सुब्रह्मण्यम को नियुक्त किया गया तथा इसका मुख्यालय नई दिल्ली में है।

भारतीय रिज़र्व बैंक –

  • 1 अप्रैल 1935 को 5 करोड़ की अधिकृत पूँजी से भारतीय रिजर्व बैंक की स्थापना हुई तथा 1 जनवरी 1949 को इसका राष्ट्रीयकरण किया गया।
  • सिक्कों का मुद्रण भारत सरकार करती है जबकि 5, 10, 20, 50, 100, 500 तथा 2000 के नोट रिज़र्व बैंक छापता है।
  • भारतीय रिजर्व बैंक के गवर्नर के हस्ताक्षर दो रुपये या उससे अधिक के नोट पर होते है जबकि एक रुपये के नोट पर वित्त सचिव के हस्ताक्षर होते है।
  • रिज़र्व बैंक द्वारा 19 अगस्त 1944 को रुपये को भुगतान सन्तुलन में सुधार हेतु चालू खाते में पूर्ण परिवर्तनीय घोषित कर दिया गया।
  • भारत का वित्तीय वर्ष 1 अप्रैल से शुरू होकर 31 मार्च तक होता है।

भारतीय रिज़र्व बैंक के मुख्य कार्य –

  1. भारत सरकार का बैंकर
  2. बैंकों का बैंक
  3. नोट निर्गमन
  4. विदेशी विनिमय नियन्त्रण
  5. साख नियन्त्रण

बैंकों का राष्ट्रीयकरण –

  • 19 जुलाई 1969 को ऐसे 14 बड़े व्यावसायिक बैंक जिनकी जमा पूँजी ₹ 50 करोड़ से अधिक थी, का राष्ट्रीयकरण किया गया।
  • बाद में, 15 अप्रैल 1980 को ₹ 200 करोड़ से अधिक जमा पूँजी वाले 6 निजी बैंकों का राष्ट्रीयकरण किया गया।
  • वर्तमान में राष्ट्रीयकृत बैंकों की कुल संख्या 21 है।

भारत में कार्यरत प्रमुख निजी बैंक –

  1. ICICI बैंक
  2. IDBI बैंक
  3. HDFC बैंक
  4. इंडसलैंड बैंक
  5. ग्लोबल ट्रस्ट बैंक
  6. टाइम्स बैंक
  7. सेन्चुरियन बैंक

प्रमुख बैंकों का विलय –

बैंक ( जिसका विलय हुआ ) बैंक ( जिसमें विलय हुआ )
न्यू बैंक ऑफ़ इण्डिया पंजाब नेशनल बैंक
देना बैंक ( कजाखस्तान ) पंजाब नेशनल बैंक
स्टेट बैंक ऑफ़ इन्दौर भारतीय स्टेट बैंक
स्टेट बैंक ऑफ़ सौराष्ट्र भारतीय स्टेट बैंक
बैंक ऑफ़ राजस्थान ICICI बैंक
रॉयल बैंक ऑफ़ स्कॉटलैंड HSBC बैंक

Related Posts

GST वस्तु एवं सेवा कर thumbnail

अर्थशास्त्र

GST वस्तु एवं सेवा कर

ओपेक (OPEC) – पेट्रोल निर्यातक देशों का संगठन thumbnail

अर्थशास्त्र

ओपेक (OPEC) – पेट्रोल निर्यातक देशों का संगठन

पंचवर्षीय योजनाएं ( Five Year Plans ) thumbnail

अर्थशास्त्र

पंचवर्षीय योजनाएं ( Five Year Plans )

अर्थव्यवस्था से सम्बंधित प्रश्न उत्तर thumbnail

अर्थशास्त्र

अर्थव्यवस्था से सम्बंधित प्रश्न उत्तर

© कॉपीराइट 2016-2021 सुगम ज्ञान । सर्वाधिकार सुरक्षित
अधिक सुविधाओं के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें