logo

सुगम ज्ञान

searchbar
सुगम ज्ञान
समसामयिकी

भूगोल

Share

अक्षांश और देशांतर रेखाएं (Latitude and Longitude)

sugamgyan

Oct 4, 2019

अक्षांश और देशांतर रेखाएं (Latitude and Longitude) main image

अक्षांश और देशांतर रेखाएं (Latitude and Longitude)पृथ्वी की ऊपरी सतह के सरल व सटीक अध्ययन के लिए इस पर कुछ काल्पनिक रेखाएं खींची गई हैं । ये रेखाएं दो प्रकार की हैं – अक्षांश और देशांतर ।

अक्षांश रेखाएं –

अक्षांश रेखाएं वे हैं जिन्हें पृथ्वी के दोनों ध्रुवों के समानांतर वृत्ताकार रूप में खींचा गया है । सभी अक्षांश रेखाएं पृथ्वी पर वृहद वृत्त बनाती हैं । ग्लोब पर अक्षांशों की कुल संख्या 181 है । पृथ्वी पर 0° अक्षांश सबसे बड़ां अक्षांशीय वृत्त बनाता है । पृथ्वी की सतह के बीचो-बीच स्थित होने के कारण इसे भूमध्य रेखा और विषुवत रेखा के नाम से जाना जाता है । भूमध्य रेखा पृथ्वी को दो गोलार्द्धों उत्तरी गोलार्द्ध औ दक्षिणी गोलार्द्ध में बांटती है । विषुवत रेखा के उत्तर में उत्तरी ध्रुव तक अवस्थित सभी अक्षांशों को उत्तरी अक्षांश के नाम से जाना जाता है । विषुवत रेखा के दक्षिण में दक्षिणी ध्रुव तक अवस्थित सभी अक्षांशों को दक्षिणी अक्षांश के नाम से जाना जाता है । 23 1/2 डिग्री उत्तरी अक्षांश को कर्क रेखा और 23 1/2 डिग्री दक्षिणी अक्षांश को मकर रेखा के नाम से जाना जाता है ।

कर्क रेखा पर बसे हुए देश –

हवाई द्वीप (USA)मैक्सिको
मॉरिटानियामाली
अल्जीरियानाइजर
लीबियाचाड
मिश्रसऊदी अरब
संयुक्त अरब अमीरात (UAE)ओमान
भारतबांग्लादेश
म्यांमारचीन
ताइवानबहमास

मकर रेखा पर बसे हुए देश –

चिलीअर्जेंटीना
पराग्वेब्राजील
नामीबियाबोत्सवाना
दक्षिण अफ्रीकामोजाम्बिक
मेडागास्करऑस्ट्रेलिया
फ्रेच पोलीनेशियाटोंगा

विषुवत रेखा पर बसे हुए देश –

इक्वाडोरकोलंबिया
ब्राजीलगैबोन
कांगोकांगो लोकतांत्रिक गणराज्य
युगांडाकेन्या
सोमालियाइंडोनेशिया
साओ टोम और प्रिंसेपमालदीव
किरिबाती

देशांतर रेखाएं –

देशांतर रेखाओं को पृथ्वी की सतह पर उत्तरी ध्रुव से दक्षिणी ध्रुव तक खींचा गया है । ये पृथ्वी पर वृहद वृत्त नहीं बनातीं हैं । ये पृथ्वी की सतह पर अर्द्ध वृत्ताकार रूप में हैं । पृथ्वी की सतह पर इनकी कुल संख्या 360 है। ये सभी एक दूसरे से 1° की दूरी पर खींची गई हैं । पृथ्वी को 1° देशांतर के घूर्णन में 4 मिनट का समय लगता है। 0° देशांतर को ग्रीनविच मीन रेखा या अंतर्राष्ट्रीय समय रेखा के नाम से जाना जाता है । इसी रेखा के आधार पर विश्व भर में समय जोन को निर्धारित किया गया है । 0° देशांतर से पूर्व में स्थित देशांतर रेखाओं को पूर्वी देशांतर औऱ इससे पश्चिम में अवस्थित देशांतर रेखाओं को पश्चिमी देशांतर के नाम से जाना जाता है । 180° पूर्वी या पश्चिमी देशांतर रेखा को अंतर्राष्ट्रीय तिथि रेखा (International Date Line) के नाम से जाना जाता है । विश्व भर में तारीख का निर्धारण इसी देशांतर के अनुसार होता है ।

Related Posts

विश्व के महासागर, सागर एवं जलधाराऐं thumbnail

भूगोल

विश्व के महासागर, सागर एवं जलधाराऐं

विश्व के प्रमुख पठार (Important Plateau of World) thumbnail

भूगोल

विश्व के प्रमुख पठार (Important Plateau of World)

अक्षांश और देशांतर रेखाएं (Latitude and Longitude) thumbnail

भूगोल

अक्षांश और देशांतर रेखाएं (Latitude and Longitude)

सरक्रीक विवाद क्या है ? (What is sir creek dispute) thumbnail

भूगोल

सरक्रीक विवाद क्या है ? (What is sir creek dispute)

© कॉपीराइट 2016-2021 सुगम ज्ञान । सर्वाधिकार सुरक्षित
अधिक सुविधाओं के लिए हमारा ऐप इंस्टॉल करें