हिंदी भाषा के शब्द अर्थ

हिंदी भाषा के शब्द अर्थ – हिंदी भाषा के विकास के क्रम में बहुत सी बोलियों का प्रचलन हुआ। असंख्य लेखकों व कवियों ने विभिन्न भाषाओं में अपनी रचनाएं की हैं। हिंदी भाषा में विभिन्न बोलियों के शब्दों और उनके अर्थ को इस लेख में दिया गया है। हिंदी के साथ अन्य भाषाओं के प्रचलित शब्दों का भी समन्वय इस पोस्ट में किया गया है।

शब्द अर्थ शब्द अर्थ
बढ़भागी भाग्यवान कुठारु कुल्हाड़ा
अपरस नीरस, अछूता, अलिप्त तर्जनी अंगूठे के पास वाली उंगली
तगा बंधन, धागा कुलिस कठोर
पुरइन पात कमल का पत्ता सरोष क्रोध सहित
माहँ में कौसिक विश्वामित्र
प्रीति नदी प्रेम की नदी भानुबंस सूर्यवंश
परागी मुग्ध होना निरंकुस जिस पर किसी का अंकुश/दबाव न हो
आवन आगमन असंकू शंका रहित
विथा व्यधा घालकु नाश करने वाला
विरहिन वियाग में जीने वाली कालकवलु जिसे काल ने अपना ग्रास बना लिया हो
गुहारि रक्षा के लिए पुकारना अबुधु नासमझ
उत उधर, वहाँ खोरि दोष
धीर धैर्य हटकह मना करना
मरजादा मर्यादा, प्रतिष्ठा अछोभा धीर, शांत, जो घबराया न हो
तिनहिं उनको बधजोगू मारने योग्य
मन चकरी जिनका मन स्थिर नहीं रहता अकरुन करुणारहित
मधुकर भौंरा गाधिसूनु गाधि के पुत्र (विश्वामित्र)
पठाए भेजे अयमय लोहे का बना हुआ
अनीति अन्याय नेवारे मना करना
भंजनिहारा भंजन करने वाला, तोड़ने वाला ऊखमय गन्ने से बना हुआ
रिसाइ क्रोध करना कृसानु अग्नि
रिपु शत्रु मंजु सुन्दर
बिलगाउ अलग होना कटि कमर
अवमाने अपमान करना किंकिनि करधनी
लकिराई बचपन में लसै सुशोभित
कोही क्रोधी हुलसै आनंदित होना
बिलोक देखकर किरीट मुकुट
अर्भक बच्चा जुन्हाई चाँदनी
महाभट महा योद्धा द्रुम पेड़
मही धरती केकी मोर
कीर तोता कंज कली कमल की कली
चटकारी चुटकी फटिक स्फटिक, प्राकृतिक क्रिस्टल
सिलानि शिला पर उदधि समुद्र
उमगे उमड़ना अमंद जो कम न हो
भीति दीवार मल्लिका बेल जाती का एक सफ़ेद फूल
मकरंद फूलों का रस आरसी आइना
मधुप मन रुपी भौंरा व्यंग्य मलिन ख़राब ढंग से निंदा करना
प्रवंचना धोखा अरुण कोपल लाल गाल
पंथा राह, रास्ता कंधा अंतर्मन, गुदड़ी
धाराधर बादल उन्मन कहीं मन न टिकने की स्थिति
निदाध गर्मी सकल सब, सारे
आभा चमक वज्र भीषण, कठोर
अट प्रविष्ट, समाना दंतुरित बचे के नए नए दांत
जलजात कमल का फूल अनिमेष बिना पलक झपकाए लगातार देखना
इतर दूसरा मधुपर्क दही, घी, शहद, जल, दूध का मिश्रण
कनखी तिरछी निगाह से देखना छविमान सुन्दर
छाया भ्रम, दुविधा सुरंग रंग बिरंगी
यामिनी तारों भरी चाँदनी रात कुंतल लम्बे केश
सरमाया पूँजी मंझोला न छोटा न बड़ा
कमली कंबल पतोहू पुत्रवधु
कलेवा सवेरे का जलपान निस्तब्धता सन्नाटा
कुहासा कोहरा आवृत्त ढाका हुआ, आच्छादित
बोदा कम बुद्धि वाला संबल सहारा
गुमान भ्रम एहतियात सावधानी
बुरकना छिड़कना प्लावित पानी भर जाना
मेदा अमाशय तसलीम सम्मान में
तहजीब शिष्टता नफासत स्वच्छता
नजाकत कोमलता नफीस बढ़िया
सकील आसानी से न पचने वाला आस्था विश्वास, श्रद्धा
देहरी दहलीज आतुर उत्सुक, अधीर
निर्लिप्त लो लिप्त न हो आवेश जोश
लबालब भरा हुआ धर्माचार धर्म का पालन
अकाट्य जिसे काटा न जा सके विरल कम मिलने वाला
करील एक कटीला पौधा गैरिक वसन साधुओं द्वारा धारण किये जाने वाला गेरुए वस्त्र
अहंवादी घमण्डी भग्नावशेष खंडहर
आक्रांत कष्टग्रस्त निषिद्ध जिस पर रोक लगाई गयी हो
विद्यमान उपस्थित कुमार्गगामी बुरी राह पर चलने वाला
धर्मतत्व धर्म का सार दलीलें तर्क
अनर्थ अर्थहीन, बुरा उपेक्षा ध्यान न देना
प्राकृत एक प्राचीन भाषा तत्कालीन उस समय का
न्यायशीलता न्याय के अनुसार कार्य करना कुतर्क अनुचित तर्क
प्रगल्भ प्रतिभावान नामोल्लेख नाम का उल्लेख करना
विज्ञ विद्वान, समझदार दुराचार निंदनीय आचरण
सहधर्मचारिणी पत्नी कालकूट जहर
पीयूष अमृत दृष्टांत उदाहरण, मिसाल
अल्पज्ञ थोड़ा जानने वाला प्राक्कालीन पुरानी
व्यभिचार पाप विक्षिप्त पागल
किंचित थोड़ा परित्यक्त पूरी तरह छोड़ा हुआ
मिथ्या झूठ निर्भर्त्सना तिरस्कार, निंदा
नीतिज्ञ नीति जानने वाला हरगिज किसी हालत में
मुमानियत रोक, मनाही अभिज्ञता ज्ञान, जानकारी
अपकार अहित ड्योढ़ी दहलीज
रियाज अभ्यास मार्फ़त द्वारा
शृंगी सींग का बना वाद्ययंत्र सजदा माथा टेकना
इबादत उपासना तासीर गुण, असर, प्रभाव
श्रुति शब्द ध्वनि ऊहापोह उलझन, अनिश्चितता
तिलिस्म जादू गमक सुगंध, खुशबु
अजादारी मातम करना, दुःख मनाना बदस्तूर कायदे से, तरीके से
नैसर्गिक स्वाभाविक, प्राकृतिक दाद शाबासी
तालीम शिक्षा अदब कायदा, साहित्य
अलहमदुलिल्लाह तमान तारीफ ईश्वर के लिए जिजीविषा जीने की इच्छा
शिरकत शामिल होना साक्षात आँखों के सामने
अनायास बिना प्रयास के, आसानी से कदाचित कभी, शायद
शीतोष्ण ठंडा और गर्म निठल्ला बेकार, अकर्मण्य, बिना काम धंधे का
मनीषी विद्वान वशीभूत अधीन, वश में होना
तृष्णा प्यास, लोभ अवश्यंभावी जिसका होना निश्चित हो
अविभाज्य जो बाँटा न जा सके कृतार्थ आभारी, धन्य
कीर्ति यश क्षुधार्त भूख से व्याकुल
करस्थ हाथ में पकड़े हुए परार्थ जो दूसरों के लिए हो
क्षितीश राजा महाविभूति बड़ी भारी पूँजी
वशीकृता वश में की हुयी मदांध जो गर्भ से अंधा हो
वित्त धन संबंधी परस्परावलंब एक दूसरे का सहारा
अमर्त्य देवता अपंक कलंक रहित
स्वयंभू स्वयं उत्पन्न होने वाला, परमात्मा अंतरैक्य आत्मा की एकता, अंतःकरण की एकता
प्रमाणभूत साक्षी अभीष्ट इच्छित
अतर्क तर्क से परे सतर्क पंथ सावधान यात्री
पावस वर्षा ऋतू सहस्त्र हजार
दृगु सुमन पुष्प रूपी आँखें अवलोक देखना
महाकर विशाल आकार दर्पण आईना
मद मस्ती झाग फेन
उर ह्रदय उच्चाकांक्षा ऊँचा उठने की कामना
तरुवर पेड़ नीरव शांत
अनिमेष एकटक चिंतापर चिंता में डूबा हुआ
भूधर पहाड़ सभय भय के साथ
शाल एक वृक्ष का नाम ताल तालाब
विचर घूमना इंद्रजाल जादूगरी
सौरभ सुगंध विपुल विस्तृत
मृदुल कोमल अपरिमित असीमित, अपार
पुलक रोमांच शलभ पतंगा
सिरहना कांपना, थरथराना स्नेहहीन प्रेम से हीं
विद्युत् बिजली मुहाने प्रवेश द्वार पर
विरासत पूर्व पीढ़ियों से प्राप्त वस्तुएँ सैलानी पर्यटक
सूरमा वीर फारिग मुक्त, खाली
फ़िदा न्योछावर हवाले सौंपना
रुत मौसम हुस्न सुंदरता
रुसवा बदनाम काफिला यात्रियों का समूह
फतह जीत जश्न ख़ुशी मनाना
नब्ज नाड़ी कुर्बानी बलिदान
लकीर रेखा विपदा मुसीबत, विपत्ति
करुणामय दूसरों पर दया करने वाला व्यथित दुखी
मददगार सहायक पौरुष पराक्रम
क्षय नाश त्राण भय निवारण, बचाव
अनुदित प्रतिदिन अनामय रोग रहित, स्वास्थ्य
सांत्वना तसल्ली देना अनुनय विनय
नत शिर सर झुकाकर वंचना छलना, धोखा देना
निखिल संपूर्ण संशय संदेह
पुख्ता मजबूत तम्बीह डाँट डपट
सामंजस्य तालमेल इबादत लेख
चेष्टा कोशिश जमात कक्षा
हर्फ़ अक्षर स्कीम योजना
अमल पालन अवहेलना तिरस्कार
नसीहत सलाह फजीहत अपमान
सालाना वार्षिक इम्तिहान परीक्षा
लज्जास्पद शर्मनाक शरीक शामिल
आतंक भय अव्वल प्रथम
आधिपत्य प्रभुत्व, साम्राज्य स्वाधीन स्वतंत्र
महीप राजा कुकर्म बुरा काम
अभिमान घमण्ड मुमतहिन परीक्षक
प्रयोजन उद्देश्य खुराफात व्यर्थ की बातें
हिमाकत बेवकूफी दुरुपयोग अनुचित उपयोग
निःस्वाद बिना स्वाद का ताज्जुब आश्चर्य
टास्क कार्य जलील अपमानित
प्राणांतक प्राण लेने वाला कांतिहीन चेहरे पे चमक न होना
स्वच्छंदता आजादी सहिष्णुता सहनशीलता
कनकौआ पतंग अदब इज्जत
जहीन प्रतिभावान तजुरबा अनुभव
बदहबास बेहाल मुहताज दूसरे पर आश्रित
पुनरावृत्ति फिर से आना सार्जेंट सेना में एक पद
मोन्यूमेंट स्मारक काउन्सिल परिषद्
वालेंटियर स्वयंसेवक संगीन गंभीर
आदिम प्रारंभिक श्रंखला क्रम, कड़ी
लोककथा जन-समाज में प्रचलित आत्मीय अपना
विलक्षण असाधारण बयार शीट मंद वायु
तंद्रा एकाग्रता चैतन्य चेतना, सजग
विकल व्याकुल, बेचैन सम्मोहित मुग्ध
अन्यमनस्कता जिसका चित्त कहीं और हो अचंभित चकित
रोमांचित पुलकित निश्चल स्थिर
अफवाह उड़ती खबर उफनना उबलना
शमन शांत करना घोंपना भोंकना
अभिनीत अभिनय किया गया सर्वोत्कृष्ट सबसे अच्छा
कलात्मकता कला से परिपूर्ण शिद्दत तीव्रता
अनन्य परम्, अत्यधिक पारिश्रमिक मेहनताना
आगाह सचेत बमुश्किल बहुत कठिनाई से
वितरक प्रसारित करने वाला नामजद विख्यात
नावाकिफ अनजान इकरार सहमति
मंतव्य इच्छा अभिजात्य परिष्कृत
भाव प्रवण भावनाओं से भरा हुआ दुरूह कठिन
सूक्ष्मता बारीकी स्पंदित संचालित करना
लालायित इच्छुक हुजूम भीड़
प्रतिरूप छाया त्रासद दुखद
वीभत्स भयानक प्रक्रिया प्रणाली
बांचै पढ़ना भाग भाग्य
भरमाये भ्रम हुआ समीक्षक समीक्षा करने वाला
चर्मोत्कर्ष ऊँचाई के शिखर पर खालिस शुद्ध
भुच्च निरा, बिलकुल किंवदंती कहावत
झलबेरी बेर की एक किस्म का पौधा काठगोदाम लकड़ी का गोदाम
बारजोयस कुत्ते की एक प्रजाति अकारण बिना किसी कारण के
पेचीदा कठिन, जटिल गुजारिश प्रार्थना, फरियाद
हर्जाना क्षतिपूर्ति बर्दाश्त सहन
त्योरियाँ भौंहें चढ़ाना विवरण व्योरा देना
आह्लाद ख़ुशी, प्रसन्नता हाकिम राजा, मालिक
लक़ब पदसूचक नाम प्रतीकात्मक प्रतीकस्वरूप
दालान बरामदा सिमटना सिकुड़ना
जलजला भूकंप सैलाब बाढ़
अजीज प्रिय, प्यारा मजार कब्र, दरगाह
डेरा अस्थाई पड़ाव बखान वर्णन
स्तर श्रेणी शाश्वत जो सदैव एक सा रहे, जिसे बदला न जा सके
मानसिक दिमागी,मस्तिष्क संबंधी पर्णकुटी पत्तों से बनी कुटिया
गरिमापूर्ण सलीके से भंगिमा मुद्रा
उलझन असमंजस्य की स्थिति अनंतकाल जिस काल का अंत न हो
अफ़साने कहानियाँ हुकूमत शासन
तख़्त सिंहासन मसलेहत रहस्य
जाँबाज जान की बाजी लगाने वाला जाती दुश्मनी व्यक्तिगत शत्रुता
मुक़र्रर तय करना तलब करना याद करना
हुकुमरां शासक हिफाजत सुरक्षा
गर्द धूल शुब्हे संदेह
गुंजाईश संभावना तन्हाई एकांत
परिणत बदलना अपरिमार्जित बिना शुद्ध की गई
चित्त हृदय प्रवृत्ति मन का झुकाव, स्वभाव
अपरिपक्व कच्चा संकल्प निश्चय करना
विवेक उचित-अनुचित को समझने की क्षमता विश्वासपात्र भरोसे के लायक
सचेत सावधान हतोत्साहित निराश
निपुणता कुशलता अनुसंधान खोज
सुगम सरल, आसान खिन्नता दुख
मग्न लीन अनुरक्ति लगाव, आसक्ति
उद्गार बाहर निकलना प्रतिमा सूरत, मूर्ति
उक्ति कथन कल्पित जिसकी कल्पना की गई हो
पथ प्रदर्शक रास्ता दिखाने वाला प्रीति पात्र प्रेम के योग्य
वांछनीय अपेक्षित प्रीति प्रेम
धीर धैर्यशाली प्रकृति स्वभाव
प्रगाढ़ घनिष्ठ प्रफुल्लित प्रसन्न
नीति विशारद नीति का विद्वान उदार दयावान
सामर्थ्य शक्ति मृदुल कोमल
आत्मबल स्वयं की आंतरिक शक्ति पल्ला पड़ना सहारा लेना
प्रतिष्ठित सम्मानित पुरुषार्थी मेहनती
शिष्ट सभ्य सत्यनिष्ठ सत्य में निष्ठा रखने वाला
निःसार तत्त्वहीन कलुषित मलिन
पतित नीच, गिरा हुआ नाशोन्मुख विनाश की ओर अग्रसर
कुसंग बुरी संगति नीति सदाचार
सद्वृत्ति अच्छा स्वभाव क्षय नाश
चेष्टा प्रयत्न चौकसी सावधानी
अवनति पतन निष्कलंक कलंकरहित
सयाना चतुर ब्रह्माण समस्त सृष्टि
सचेष्ट प्रयत्नशील उपासना पूजा
आततायी अत्याचारी विपन्न दुखी
कपाट किवाड़ कर्पट कपड़ा
हताश दुखी मर्कट बंदर
भीषण भयंकर भग्नावशेष खण्डहर
चन्द्रिका चाँदनी विभूति ऐश्वर्य
प्राचीर दीवार गुल्म झाड़ी
विहार बौद्ध भिक्षुओं का निवास स्थान तोरण किले का मुख्य दरबाजा
उत्कोच रिश्वत विकीर्ण फैलना
आवरण पर्दा अनुचर सेवक
व्यथित दुखी निराश्रय बेसहारा
दुहिता पुत्री विकल दुखी
वेदना पीड़ा यौवन जवानी
उमंग उल्लास स्फूर्ति ताजगी
आवेग मानसिक दबाव की स्थिति यथार्थ वास्तविक
सम्मति राय संचित एकत्रित
स्वच्छन्द बंधनहीन उदात्त महान, श्रेष्ठ
आख्यायिका लम्बी कहानी विज्ञ ज्ञाता
अनुभूति जो अनुभव किया जाए अज्ञ न जानने वाला
मूढ़ मूर्ख दुर्बोध कठिन
अभिव्यक्ति विचार प्रकट करना गरिमा गौरव
कोलाहल शोर आशंका संदेह
कलरव चिड़ियों की आवाज तरुण युवक
संग्राम युद्ध अतीत बीता हुआ समय
क्षुब्ध दुखी निर्माता बनाने वाला
निहित छिपा हुआ स्मारक यादगार
सफर यात्रा तप्तभूमि धूप से गर्म हुई भूमि
कोस एक मानक दूरी जलप्रपात झरना
तह मूल संगमस्थल मिलने का स्थान
उद्गम स्थल निकलने का स्थान प्रकाण्ड विस्तृत, फैला हुआ
प्रगाढ़ गहरा नामोनिशां चिह्न
निर्मल मल से रहित श्रुति वेद
आध्यात्मिक आत्मा से संबंधित श्रुति उपनिषद्
प्रत्यक्ष सामने प्रत्यक्ष अक्षि के प्रति
मूर्त साकार मज्जा चर्बी
मृतप्राय लगभग मरा हुआ भोग सांसारिक वस्तुओं का भोग
ओत प्रोत पूर्ण सृजनात्मक रचनात्मक
सौहार्द सह्रदयता पुनरावृत्ति दोहराना
सूत्र मंत्र वैयक्तिक एक व्यक्ति का
स्वत्व अधिकार निष्ठा आस्था, विश्वास
अतुल जिसे तोला न जा सके अत्कर्ष उन्नति
उपार्जन उत्पादन, संचय परिमित सीमित
मृदुभाषिणी मृदु बोलने वाली दाह जलन
विभव ऐश्वर्य ईर्ष्या दूसरों से जलना
दंश मारना काटना निन्दक बुराई करने वाला
अनायास बिना श्रम के ह्रास क्षय, गिरावट, कमी
द्वेष कटुता फिक्र चिन्ता
श्रोता सुनने वाला ध्येय उद्देश्य
अपव्यय निरर्थक व्यय प्रचण्ड घोर
बदतर बहुत बुरा बनिस्बत अपेक्षाकृत
प्रत्युत अपितु मद्धिम हल्का, धीमा
संसारव्यापी संपूर्ण संसार में व्यापी स्पर्द्धा आगे निकलने की होड़
पक्ष पहलू समकक्ष समान
समकालीन अपने समय के ऐब दोष
तजुरबा अनुभव शोहरत यश, प्रसिद्धि
जिज्ञासा जानने की इच्छा रचनात्मक निर्माणकारी
सदियों सैकड़ें वर्ष अमानत धरोहर
अभिराम संदरता सिरजना सृष्टि करना
संगसाज पत्थर के कलाकार कलावन्त कलाकार
कुदरत प्रकृति नूर चमक, आभा
निचौंधे नीचे का गुहा गुफा
रौनक सुंदरता चितेरे चित्रकार
कोरते तराशते सूबे प्रदेश
सिलसिला क्रम अर्द्धचंद्राकार आधे चांद के आकार का
हिया दरकना हृदय फटना सह्याद्रि एक पर्वतमाला
फसाने कहानियाँ अजायब आश्चर्यजनक
निर्वाण परमगति जगत्राता विश्व का रक्षक
नजारे दृश्य खूबी विशेषता
अबिगत अज्ञात व निराकार गति स्थित व दशा
परम स्वाद अलौकिक आनंद अमित अत्यधिक
तोष संतोष अगम जहाँ पहुँचना कठिन हो
राइ राजा पंगु लंगड़ा
लंघै लांघना तिहिं उन
अगोचर इंद्रियों से परे निरालम्ब बिना किसी आधार के
बिम्ब परछाई राजत सुशोभित
दतियाँ दांत अवगाहत दिखलाते हैं
अंचरा आंचल तर नीचे
बल बलराम गाइनि गायों
नैकहूं तनिक भी दुहाई शरण
रैनि रात दैहों दूंगी
सिगरे हर जगह पिराईं दुखना
पत्याहि विश्वास हो सौंह सौगन्ध
रिस गुस्सा पठवति भेजना
रिंगाइ घुमाकर चोरि चुरा लें
तोरि तोड़कर छिन इक क्षणभर
कृतसंकल्प दृढ़ निश्चय निष्क्रिय क्रियारहित
त्रिपाद तीन पैर वाला कामना इच्छा
धूल धूसरित धून से सना पालित पोषित पाले पोषे हुए
कपोल कल्पना पूर्णतः असत्य कल्पना पद प्रहार लात मारना
क्षुब्ध दुःखी विरहिणी वियोगिनी
विचरण घूमना अनगढ़ बेडौल
अविश्वसनीय विश्वास करने में कठिन प्रक्षेपण फेंकना
निष्कासन निकालना निसि-बासर रात-दिन
छोरि छोड़ते हैं कर हाथ
अधरनि होंठ कटि कमरा
मोहिनी जादू भोरि भुलावा
राग प्रेम बिसरत विस्मृत
सघन गहन सिरात बीत जाना
जदु तात श्रीकृष्ण हुतै था
अवराधै आराधना शिथिल शक्तिहीन
केसव श्रीकृष्ण देही शरीर
बरीस वर्ष जोग योग, संयोग
पठयौ भेजना लजाने लज्जित होना
अयाने अज्ञानी सयाने चतुर
मष्ट करौ चुप रहो निदाने अन्त में
साँच सत्य हाँसी हंसी करना
बरन वर्ण अभिलाषी इच्छुक
गाँसी छल, कपट धाय आया
टेव आदत लड़ैते लाडले
अलक लड़ैते प्यारे दुलारे सोच चिन्ता
उर हृदय तातो गर्म
निकसी निकलीं केतिक कितना
पुट सम्पुट पर्नकुटी झोंपड़ी
तिय पत्नी आतुरता व्याकुलता
च्वौ प्रवाहित होने लगा चारु सुन्दर
परिखौ प्रतीक्षा करो घरीक एक घड़ी के लिए
ठाढ़े खड़े होकर पसेउ पसीना
बयारि हवा भूभुरि धूल
डाढ़े तपे हुए बिलंब लौं देर तक
कंटक काँटे काढ़े निकाले
नाह स्वामी बिलोचन नेत्र
अजानी अज्ञानी पबि वज्र
काज-अकाज उचित और अनुचित कान कियो है कहना मान लिया
जोग योग्य किमि क्यों
औसर अवसर लाहु लाभ
बिलोचन नेत्र तून तरकश
सरासन धनुष सुठि अच्छी तरह
अली सखी लड़ाग तालाब
सीस शीर्ष, सिर उर वक्षस्थल
रावरे तुम्हारे बैन वचन
साने सिक्त सयानी चतुर
बिगसी विकसित हुई    

Leave a Comment

चैट खोलें
1
मदद चाहिए ?
Scan the code
हम आपकी किस प्रकार सहायता कर सकते हैं ?