डेली करेंट अफेयर्स 16 सितंबर 2022 | Daily Current Affairs in hindi

ट्विटर पर 5 करोड़ फॉलोअर्स वाले विश्व के पहले क्रिकेटर बने विराट कोहली, आर्मेनिया और अजरबैजान में सीमा संघर्ष, कल 15 सितंबर को भारत में मनाया गया अभियंता दिवस…

ट्विटर पर 5 करोड़ फॉलोअर्स वाले पहले क्रिकेटर बने विराट –

भारतीय क्रिकेट टीम के बल्लेबाज विराट कोहली सोशल मीडिया प्रेटफार्म ट्विटर पर 50 मिलियन फॉलोअर्स वाले दुनिया के पहले क्रिकेटर बन गए हैं। इन्होंने यह उपलब्धि एशिया कप 2022 में शानदार बापसी के बाद हासिल की है। इनके इंस्टाग्राम पर पहले ही 211 मिलियन फॉलोअर्स हैं। वहीं फेसबुक पर इनके 49 मिलियन फॉलोअर्स हैं।


सुगम ज्ञान मासिक क्विज

रजिस्ट्रेशन शुल्क मात्र ₹49/- ₹11/- है। जिसमें आपको पूरे महीने की करंट अफेयर्स पीडीएफ (ई-बुक) मिलेगी और अपनी तैयारी को जाँचने के साथ-साथ नकद इनाम जीतने का मौका मिलेगा। पहला, दूसरा व तीसरा स्थान प्राप्त करने वाले प्रतिभागियों को क्रमशः ₹300, ₹200 व ₹100 का नकद इनाम दिया जाएगा।


आर्मेनिया – अजरबैजान संघर्ष

यूं तो आर्मेनिया और अजरबैजान के बीच सीमा संघर्ष वर्षों से चल रहा है। एक बार फिर दोनों देशों के बीच संघर्ष छिड़ गया है। हाल ही में आर्मेनिया ने अजरबैजान से संघर्ष के बीच अपने 105 सैनिको के मारे जाने की जानकारी दी है। इसके बाद दोनों देशों के बीच संघर्ष बढ़ने की आशंका जताई जा रही है। दोनों देशों के बीच 4400 वर्ग किलोमीटर में फैले नागोर्नो-काराबाख क्षेत्र की विवादित जमीन को लेकर सालों से संघर्ष चल रहा था। दोनों देश इस इलाके पर कब्जा करने को लेकर कई साल से संघर्षरत हैं। अंत

र्राष्ट्रीय स्तर पर यह क्षेत्र अजरबैजान का हिस्सा है, जिस पर 1994 ई. में जंग के बाद आर्मेनिया समर्थित जातीय आर्मेनियाई बलों ने इस पर कब्जा कर लिया था। जो कि आज तक आर्मेनियाई जातीय गुटों के कब्जे में है। ये दोनों ही देश प्रथम विश्व युद्ध के बाद 1918 और 1921 ई. में आजाद हुए थे। इसके बाद 1922 ई. में दोनों देश सोवियत संघ का हिस्सा बने। तब रूस के नेता जोसेफ स्टालिन ने अजरबैजान के एक हिस्से को आर्मेनिया को दे दिया। जो पहले अजरबैजान के कब्जे में था। तभी से दोनों देशों के बीच यह विवाद का कारण बन गया।

इंजीनियर्स डे

15 सितंबर को हर साल भारत में इंजीनियर्स डे मनाया जाता है। यह भारत के महान इंजीनियर डॉ. मोक्षगुंडम विश्वेश्वरैया की जन्मतिथि है। इस दिवस को मनाने की घोषणा भारत सरकार द्वारा 1968 ई. में की गई। विश्वेश्वरैया का जन्म 15 सितंबर 1860 ई. को तात्कालिक ब्रिटिश भारत के मैसूर के कोलार जिले में हुआ था। इन्हें भारत सरकार द्वारा 1955 ई. में भारतरत्न से सम्मानित किया गया था।   

Leave a Comment

चैट खोलें
1
मदद चाहिए ?
Scan the code
हम आपकी किस प्रकार सहायता कर सकते हैं ?