उत्तर प्रदेश सामान्य ज्ञान (Uttar Pradesh General Knowledge)

उत्तर प्रदेश, भारत के 28 राज्यों में से एक है और नवाबों का शहर ‘लखनऊ’ राजधानी है। वर्तमान उत्तर प्रदेश को साहित्य में एक पवित्र स्थल के रूप में वर्णन मिलता है। हिन्दुओं के प्रसिद्ध धार्मिक ग्रंथों  ‘ रामायण ‘ और  ‘ महाभारत ‘  में वर्णित श्री राम और श्री कृष्ण आदि देवताओं का जन्म यहीं हुआ था। मनु के पुत्र इक्ष्वाकु ने अयोध्या को अपनी राजधानी बनाया था। इसी वंश में जन्मे राजा दशरथ के पुत्र राम थे, जिन्हें हिन्दू धर्म में भगवान का दर्जा प्राप्त है। नहुष के पुत्र ययाति, जोकि भारत के प्रथम चक्रवर्ती सम्राट थे। इनके पांच पुत्र कुरु, यदु, गाधि, वत्स, तथा क्षात्र वृद्ध थे, जिनके नामों पर पांच राजवंश यथा कुरु वंश, यदु वंश, गाधि वंश, वत्स वंश तथा क्षात्र वृद्ध वंश थे और इनके राज्यों की राजधानियाँ क्रमशः हस्तिनापुर, मथुरा, कन्नौज, कौशाम्बी तथा वाराणसी थीं। कहा जाता है कि कुरु वंश के राजा दुष्यंत के बेटे भरत के नाम पर ही हमारे देश का नाम भारत पड़ा। वर्तमान में उत्तर प्रदेश की सीमा आठ राज्यों ( उत्तराखण्ड, हिमाचल प्रदेश, हरियाणा, राजस्थान, मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, झारखण्ड, बिहार ), एक केंद्र शासित प्रदेश ( दिल्ली ) और एक देश ( नेपाल ) से छूती है। उत्तर प्रदेश को वर्तमान में मुख्यतः तीन प्राकृतिक प्रदेशों में विभाजित गया है – (अ) भाबर एवं तराई का प्रदेश, (ब) गंगा-यमुना का मैदान एवं (स) दक्षिण का पठारी भाग। आगरा से 12 Km की दूरी पर प्रति वर्ष अगस्त-सितंबर माह में कैलाश मेले का आयोजन होता है।

कुछ महत्वपूर्ण तथ्य –

  • उत्तरप्रदेश की सीमा एक केन्द्र शासित प्रदेश दिल्ली सहित कुल 9 राज्यों से और एक देश नेपाल से लगी है।
  • उत्तरप्रदेश की सबसे लम्बी सीमा मध्य प्रदेश से और सबसे छोटी सीमा रेखा हिमाचल प्रदेश से स्पर्श करती है।
  • सबसे कम जिलों को स्पर्श करने वाला जिला ललितपुर है।
  • उत्तरप्रदेश का इलाहाबाद उच्च न्यायालय एशिया का सबसे बड़ा उच्च न्यायालय है।

उत्तर प्रदेश एक नजर में ( Uttar Pradesh At A Glance )

राज्य उत्तर प्रदेश
राज्य का नाम – 1836 से उत्तर-पश्चिम प्रान्त 
– 1902 से संयुक्त प्रान्त ( अवध एवं आगरा )
– 1937 से केवल संयुक्त प्रान्त 
– 26 जनवरी, 1950 से उत्तर प्रदेश
राजधानी – 1858 तक आगरा 
– 1858 से 1921 तक इलाहाबाद 
– 1921 से लखनऊ
स्थापना 24 जनवरी 1950
राज्य का पुनर्गठन 1 नवम्बर, 1956 ( स्थापना दिवस )
राज्य का विभाजन 9 नवम्बर, 2000
क्षेत्रफल 2,40,928 वर्ग किमी. ( देश में चौथा स्थान )
सर्वाधिक क्षेत्रफल वाला जिला लखीमपुर खीरी
न्यूनतम क्षेत्रफल वाला जिला संत रविदास नगर
विस्तार अक्षांशीय विस्तार 24°30′ N से 30°52′ N तथा देशान्तरीय विस्तार 77°49′ E से 84°38′ E ( पूर्व से पश्चिम – 650 किमी. ,उत्तर से दक्षिण – 240 किमी. )
कुल संभाग / मंडल 18
कुल जिले 75
कुल तहसील 340
लोकसभा सदस्य 80
राज्यसभा सदस्य 31
विधानसभा सदस्य 404 (403+1)
विधान परिषद् सदस्य 100 (99+1)
जनसंख्या 19,98,12,341 ( देश में प्रथम स्थान ) { जनगणना 2011 के अनुसार }
सर्वाधिक जनसंख्या वाला जिला इलाहाबाद
न्यूनतम जनसंख्या वाला जिला महोबा
साक्षरता 67.7% 
पुरुष – 77.3%
स्त्री – 57.2%
सर्वाधिक साक्षरता दर वाला जिला गौतमबुद्ध नगर (80.1%)
न्यूनतम साक्षरता दर वाला जिला श्रावस्ती (46.7%)
लिंगानुपात 912
सर्वोच्च पर्वत शिखर अम्सोत
प्रथम राज्यपाल श्रीमती सरोजिनी नायडू
प्रथम मुख्यमंत्री श्री गोविंद बल्लभ पंत
राजकीय वृक्ष अशोक
राजकीय पुष्प पलाश ( टेसू )
राजकीय पक्षी सारस
राजकीय पशु बारहसिंगा
प्रमुख नदियाँ गंगा , यमुना ,
उच्च न्यायलय इलाहाबाद ( 1866 में स्थापित )
भाषा हिंदी , उर्दू ( 1989 से स्वीकृत )
प्रमुख बोलियाँ ब्रज , भोजपुरी, बुन्देली, अवधी, खड़ी बोली व पंचाली
प्रमुख लोकगीत बिरहा , चैती , ढोला , कजरी , आल्हा , पूरन , रसिया , भगत , भर्तहरी
प्रमुख लोकनृत्य नौटंकी, रासलीला, झूला, छपेली, दीवाली, कजरी और करीना
प्रमुख मेले एवं उत्सव कुम्भ मेला , अर्धकुंभ मेला , माघ मेला , देवाशरीफ मेला , ढाई घाट मेला , देवीपाटन मेला, ताज महोत्सव, राम बरात, कैलाश मेला
प्रमुख खनिज चूना पत्थर , डोलोमाइट , मैग्नेसाइट , सोपस्टोन , जिप्सम , ग्लास सैंड , संगमरमर , फ़ॉसफ़ोराइट ,
वन एवं राष्ट्रीय उद्यान दुधवा राष्ट्रीय उद्यान
वनों का क्षेत्रफल 6.8 %
प्राणी उद्यान कानपुर और लखनऊ
वेबसाइट http://up.gov.in/

महाजनपद काल –

महाजनपद काल में उत्तर प्रदेश के क्षेत्र की महत्ता को इसी तथ्य से समझा जा सकता है कि कुल – 16 महाजनपद में से 08 महाजनपद उत्तरप्रदेश के क्षेत्र के अंतर्गत ही आते थे। ये महाजनपद निम्नलिखित हैं –

महाजनपद क्षेत्र विस्तार राजधानी
कुरु दिल्ली, मेरठ, थानेश्वर इंद्रप्रस्थ (दिल्ली के पास इंद्रपाल)
पांचाल बरेली, बदायूं, पांचाल अहिच्छत्र (बरेली के पास रामनगर)
शूरसेन मथुरा के आस पास मथुरा
वत्स इलाहबाद के आस पास कौशाम्बी
कोशल अवध साकेत और श्रावस्ती
मल्ल कुशीनगर कुशीनगर (कसयां), पावा (पडनौर)
काशी वाराणसी वाराणसी
चेदि बुंदेलखंड शुक्तिमति

Leave a Comment

चैट खोलें
1
मदद चाहिए ?
Scan the code
हम आपकी किस प्रकार सहायता कर सकते हैं ?